शिमला, जागरण संवाददाता। Dr Suggestions, मौसम में बदलाव होने से सेहत का विशेष ध्यान रखना जरूरी है। दिन में हल्की गर्मी व रात को ठंड हो रही है। ऐसे में स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सचेत रहने की जरूरत है। सेहत के प्रति लापरवाही नुकसान पहुंचा सकती है। रिपन अस्पताल के मेडिसिन रोग विशेषज्ञ डा. अर्जुन ने बताया कि तापमान में उतार-चढ़ाव के कारण शरीर खुद को उसके अनुसार ढाल नहीं पाता। इससे लोग बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। हालांकि अस्पताल में वायरल फीवर सहित खांसी व जुकाम के मरीज कम आ रहे हैं लेकिन आने वाले समय में ऐसी परेशानियां सामने आ सकती हैं।

इन दिनों जिलेभर में स्क्रब टाइफस का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में लोगों को हाथों में दस्तानें, पैरों में जुराबें व जूते पहनकर खेतों में काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बदलते मौसम में इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। ऐसे में सर्दी, जुकाम व बुखार की परेशानी आम बात है। शाम को पर्याप्त कपड़े पहनकर ही निकलना चाहिए। बदलते मौसम में वायरल फीवर के मामले बढ़ते हैं। बुजुर्गों के साथ बच्चे भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। इस मौसम में बच्चों व बुजुर्गों को ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है।

ये बरतें सावधानियां

  • खानपान पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।
  • पौष्टिक आहार लेना चाहिए, इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • पर्याप्त पानी पीना चाहिए।
  • मौसमी फलों व सब्जियों का खाने में प्रयोग करना चाहिए।
  • सीजनल फलों का सेवन करें।
  • पिज्जा, बर्गर, चाट, तली चीजें न खाएं।
  • शारीरिक परेशानी होती है तो चिकित्सक से परामर्श लेंं।
  • बदलते मौसम में नियमित योग करना चाहिए।
  • नियमित मेडिटेशन करें और इसे दिनचर्या में शामिल करें।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के विद्यार्थी पाएंगे नीट और जेईई की मुफ्त कोचिंग, राज्‍यपाल ने लांच की स्‍वर्ण जयंती अनुशि‍क्षण योजना

यह भी पढ़ें: केंद्रीय विश्‍वविद्यालय में प्रवेश के लिए 8564 ने किया आनलाइन आवेदन, इन विषयों में दिखाई ज्‍यादा रुचि

Edited By: Rajesh Kumar Sharma