कांगड़ा, जेएनएन। डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टांडा में स्पेशल वार्ड का किराया अब 1000 की बजाय 1200 रुपये लगेगा। साथ ही वीआइपी वार्ड के लिए अब 1500 रुपये किराया देना होगा। पहले यह एक हजार रुपये था। यह फैसला बुधवार को अस्पताल में रोगी कल्याण समिति की 11वीं गवर्निग परिषद की बैठक में लिया गया। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार विशेष रूप से मौजूद रहे। बैठक में समिति ने वर्ष 2019-20 के लिए प्रस्तावित आय 60 करोड़, 44 लाख रुपये तथा प्रस्तावित खर्च 64 करोड़, 80 लाख रुपये का अनुमानित रखा है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार टांडा अस्पताल को सुपर स्पेश्येलिटी हॉस्पिटल के रूप में विकसित करने पर जोर दे रही है। बैठक में अस्पताल के सभी उपकरणों की गुणवत्ता जांचने के भी निर्देश दिए गए। वार्डों में 50 आयरन लॉकर लेने, सॉलिड वेस्ट के लिए बारकोड मशीन लगाने व अस्पताल परिसर में 300 नए बेंच लगाने को भी मंजूरी प्रदान की गई। बैठक में स्नातकोत्तर छात्रों की ट्यूशन फीस का मुद्दा रोगी कल्याण समिति में रखने का प्रस्ताव रखा गया। एआरटी भवन से दुकानें खाली करने का प्रस्ताव पारित किया गया।

मरीजों की सहायता के लिए विभिन्न श्रेणियों के 210 ऑक्सीजन तथा ऑक्साइड सिलेंडर लेने की अनुमति दी गई। अस्पताल में डिजिटल भुगतान के लिए कैश काउंटर में स्वाइप मशीनें लगाने का निर्णय हुआ। अंतरंग व बाह्य मरीजों के लिए ओपीडी टोकन डिस्पले सिस्टम तथा पीए सिस्टम लगाने व सुपर स्पेश्येलिटी में वाईफाई सुविधा आरंभ करने, गरीब मरीजों की सहायता के लिए सहायता फंड बनाने व अस्पताल की लैब को 24 घंटे चलाने का भी फैसला लिया गया।

बैठक में ये रहे मौजूद

बैठक में निदेशक स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अनुसंधान डॉ.रवि चन्द शर्मा, उपायुक्त कांगड़ा राकेश कुमार प्रजापति, प्रधानाचार्य टांडा डॉ.भानु शर्मा, संयुक्त निदेशक कुलवीर राणा, सीएमओ कांगड़ा डॉ. गुरदर्शन गुप्ता, डॉ.आरएस राणा व संजीव सोनी सहित रोगी कल्याण समिति के गैर सरकारी एवं सरकारी सदस्यों ने भाग लिया।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस