बिलासपुर, जागरण संवाददाता। जिला बिलासपुर पुलिस के कप्तान शनिवार देर रात को एक प्राइवेट नंबर कार में औचक निरीक्षण पर निकले। इस दौरान उन्होंंने अपने जिला पुलिस क्षेत्र के कई इलाकों का जायजा लिया। इसी बीच वह बरमाणा पुलिस स्टेशन पहुंचे और यहां ड्यूटी पर तैनात सभी कर्मियोंं को हाजिर होने के आदेश सुनाए। आदेश के 30 मिनट तक दो पुलिस कर्मी थाना में नहीं पहुंचे सके, जिन्हें एसपी ने अनुपस्थित मार्क करते हुए पिट्ठु ड्रिल की सजा का नोटिस दिया है। एसपी बिलासपुर दिवाकर शर्मा करीब साढे बारह बजे बरमाणा पुलिस थाना से बाहर निकले और इसके उपरांत रात के करीब तीन बजे तक सडकों पर चल रही पेट्रोङ्क्षलग और गश्त टीम की स्थिती का जायजा लिया।

थाना प्रभारी को सराहा

एसपी बरमाणा पुलिस स्टेशन में रात करीब 11:30 बजे अचानक एक निजी कार मेंं पहुंचे। एसपी ने थाना मेंं पहुंचने के बाद वहां मौजूद ड्यूटी कर्मचारियों को 30 मिनट के भीतर एकत्रित होने के लिए कहा। इस दौरान केवल दो कर्मियोंं को छोडकर सभी कर्मचाारी थाना में पहुंच गए। इस बात को लेकर थाना प्रभारी मोहन रावत व उनकी टीम के कार्य व चौकसी को एसपी बिलासपुर ने सराहा और दो नहीं पहुंचे कर्मियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

घाघस से कंदरौर तक लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे

देर रात जब एसपी बिलासपुर नाइट विजिट पर थे तो वह करीब एक बजे सलापड पुल के पास पहुंचे। यहां उन्होंने घागस कंदरौर रूट पर पेट्रोङ्क्षलग की और घागस मार्ग पर दो किलोमीटर चल कर उन्हें एक पेट्रोङ्क्षलग वैन मिली। पेट्रोङ्क्षलग टीम की कार्य प्रणाली दुरुस्त पाई गई। इसके बाद एसपी ने बिलासपुर शहर के रौडा, दियारा, बस स्टैंड, बमटा, चांदपुर, चेतना चौक सहित कई स्थानों पर भी दबिश देते हुए व्यवस्थाओं का जायजा लिया। शहर मेंं कई स्थानों पर होमगार्ड जवान तैनात थे और चौकसी से अपनी डियूटी दे रहे थे।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप