संवाद सहयोगी, पालमपुर : भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ भाजपा नेता शांता कुमार ने कहा है कि श्रीराम मंदिर मामले के पांच सौ साल के इतिहास में रोटरी भवन पालमपुर का अहम स्थान है। श्रीराम मंदिर निर्माण की अंतिम कड़ी में जो महत्वपूर्ण निर्णय पालमपुर में लिया गया उसने पूरे आंदोलन को शक्ति दी और यह अंजाम तक पहुंचा।

बुधवार को रोटरी भवन पालमपुर में आयोजित कार्यक्रम में शांता कुमार ने कहा, श्रीराम मंदिर आंदोलन की आखिरी कड़ी यहीं से शुरू हुई थी। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में श्रीराम मंदिर बनाने का संकल्प और इसे आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण रणनीति को शीर्ष नेतृत्व ने यहीं अंजाम दिया था। बकौल शांता, सोमनाथ से अयोध्या तक रथयात्रा निकाले जाने और उसके बाद जो भी घटनाक्रम हुआ वह देश के इतिहास में दर्ज हो गया। वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि वे खुद को सौभाग्यशाली मानते हैं कि इस कार्य उन्होंने भी भूमिका निभाई है। इससे पूर्व प्रदेश महामंत्री त्रिलोक कपूर, संगठन जिलाध्यक्ष हरिदत्त शर्मा ने भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में पूर्व विधायक डॉ. शिव कुमार, पूर्व विधायक प्रवीण शर्मा, दूलो राम, कर्मचारी प्रकोष्ठ के घनश्याम शर्मा, पालमपुर प्रभारी विशाल चौहान, पर्यटन प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनय शर्मा समेत चारों मंडलों के अध्यक्ष, युवा व महिला मोर्चा के अध्यक्ष प्रमुख तौर पर मौजूद रहे।

.......................

मंदिर निर्माण में राजनीति का सवाल ही नहीं

कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत में शांता कुमार ने कहा कि श्रीराम मंदिर में राजनीति का कोई सवाल नहीं है। श्रीराम केवल धार्मिक इंसान नहीं बल्कि राष्ट्र पुरुष हैं। श्रीराम पूरे देश के हैं। यह राष्ट्रीय काम था। श्रीराम मंदिर निर्माण पर कोई राजनीति नहीं है। मुस्लिम नेता औबेसी के बयान पर कहा कि वह किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहते हैं। बकौल शांता, जहां श्रीराम मंदिर बन रहा है, वहां अलग से मस्जिद भी बन रही है।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस