मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

फतेहपुर, जेएनएन। भाखड़ा-ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (बीबीएमबी) ने बुधवार सायं करीब छह बजे चीफ इंजीनियर की मौजूदगी में पौंग बांध के एक-एक फीट तक छह गेट खोलकर पानी छोड़ा है। इसके बाद बीबीएमबी प्रशासन ने बांध से सटे जिला कांगड़ा के क्षेत्रों और पंजाब के होशियारपुर में अलर्ट जारी कर दिया है। हालांकि प्रशासन ने पानी जनता की सुरक्षा को देखते हुए छोड़ा है। वर्तमान में बांध का जलस्तर 1388.47 फीट तक पहुंच चुका है तथा हिमाचल प्रदेश के ऊपरी क्षेत्र में मूसलधार बारिश का अंदेशा होने पर बीबीएमबी प्रशासन ने पानी छोड़ा है। बांध से 7422 क्यूसिक पानी छोड़ा है। ट्रबाइन के माध्यम से पहले ही बिजली बनाने के लिए 12061 क्यूसिक पानी छोड़ा जा रहा है।

ट्रबाइन के माध्यम से 19500 क्यूसिक बांध से बाहर छोड़ा गया है। बांध से अतिरिक्त पानी छोड़ने से कांगड़ा के मंड मियानी समेत होशियारपुर व तलवाड़ा क्षेत्रों में खतरा हो गया है। पौंग बांध के प्रशासनिक अधिकारी आरएस राठौर ने बताया कि हिमाचल में अगले दिनों बारिश की संभावना के मद्देनजर बांध के छह गेट खोले हैं और इससे किसी भी तरह का नुकसान नहीं होगा। अगर बारिश होती है तो पौंग बांध में और पानी आने के लिए जगह बन जाएगी। प्रशासन व लोगों को सचेत रहने के लिए कहा गया है।

उधर, होशियारपुर जिले के हलके दसूहा के विधायक अरुण मिक्की डोगरा ने कहा कि बीबीएमबी कर्मचारियों की देखरेख में पानी छोड़ा है। डैम के निचले हिस्से के लोगों को सचेत रहने के लिए कहा गया है। बीबीएमबी कर्मचारी यूनियन के प्रधान विजय ठाकुर ने कहा कि बांध के निचले इलाके के लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने लोगों को पानी के किनारे न जाने की सलाह दी है।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप