नगरोटा सूरियां, जेएनएन। जवाली उपमंडल के तहत ग्राम पंचायत फारियां के बरगद शिव मंदिर में पौंग बांध विस्थापितों की पौंग डैम के किनारे एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता पौंग बांध विस्थापित बहुउद्देशीय सोसायटी लिमिटेड के डायरेक्टर रघुवीर सिंह लालिया ने की। बैठक में निर्णय लिया गया कि  28 नवंबर को राजा का तालाब स्थित डीसी आरएंडआर आॅफिस में पौंग बांध विस्थापित बहुउद्देशीय कमेटी के प्रबंध निदेशक अश्विनी अवस्थी पुनर्वास में हो रहे अन्याय के खिलाफ आमरण अनशन करेंगे। जिसमें काफी संख्या में विस्थापित भी उनके साथ बैठेंगे।

रघुबीर लालिया ने कहा पौंग बांध विस्थापितों को आज 47 वर्ष हो गए हैं। लेकिन उन्हें इंसाफ नहीं मिल पाया है। उन्होंने कहा पौंग बांध विस्थापितों के बच्चे दर-दर ठोकरें खा रहे हैं। खाने को रोटी नहीं रहने को मकान नहीं, कमाई का कोई साधन नहीं है। उन्होंने कहा जो पौंग बांध विस्थापित पौंग बांध के किनारे फसल उगाते थे उसे भी पौंग बांध प्रशासन ने बंद कर दिया है। उन्होंने कहा राजा का तालाब डीसी आरएंडआर कार्यालय में अश्वनी अवस्थी के साथ सभी लोग मरण व्रत पर बैठेंगे और अगर इस दौरान किसी को को कुछ हुआ तो इसका जिम्मेवार प्रशासन और सरकार होगी।

उन्होंने मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश जयराम ठाकुर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की है कि पौंग बांध विस्थापितों का हक दिलाया जाए व उनकी समस्या का शीघ्र समाधान किया जाए। उन्‍होंने चेतावनी दी कि अब राहत न मिलने पर विवश होकर राजस्थान को मिलने वाला पौंग बांध का पानी रोक दिया जाएगा। इस मौके पर खरैती लाल, देव प्रकाश, किशन चंद, उत्तम चंद ,दिनेश कुमार ,सुरेंद्र कुमार, संजीव कुमार, रजनीश कुमार, सरला देवी, अनिता कुमारी, मनोहर लाल, उषा देवी, कौशल्या देवी, सत्या देवी, रूपलाल, बचनी देवी, शारदा देवी, अमर प्रकाश, इच्छा देवी, लहरी राम, रनिया राम, प्रकाश चंद, जवाहर लाल, सुनीता कुमारी व सुशील कुमार भी उपस्थित रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस