पालमपुर, जेएनएन। सार्वजनिक जगह पर हुड़दंग मचाना मनचलों को महंगा पड़ा। सारी रात हवालात में गुजारने के बाद पुलिस ने जमानत पर इन्‍हें रिहाई दी। पुलिस ने सोमवार को आरोपितों को दंडाधिकारी के समक्ष पेश किया, जहां इन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया। उत्तर प्रदेश के छह व्यक्तियों ने रविवार को पालमपुर बाजार में आपस में उलझते हुए गाली-गलौज करते हुए हुडदंग मचाया था। स्थानीय लोगों की शिकायत पर पुलिस ने सभी आरोपितों को पकड़ा था।

पालमपुर बाजार में हुड़दंग बचाने के आरोप में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया था। आरोपित उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और क्षेत्र में मजदूरी करते हैं। आरोपित किसी बात पर आपस में उलझ पड़े और राहगीरों को भी नुकसान पहुंचाने लगे। इसकी शिकायत लोगों ने पुलिस थाना पालमपुर में दी। पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंचकर गोविंद प्रसाद, विनय कुमार व अजीत कुमार पुत्र बैद्यनाथ प्रसाद निवासी गांव हटवा, डाकघर करमानी प्रेमबाला, तहसील कस्बा, जिला कुशीमानगर, उत्तर प्रदेश, उपेंद्र प्रसाद पुत्र मुसाई निवासी गांव धानी पट्टी गोला, डाकघर कोला, तहसील कस्बा, जिला कुशीमानगर, सुंदर चौधरी पुत्र चेतम चौधरी निवासी गांव धानी पट्टी, डाकघर कोला, तहसील कस्बा, जिला कुशीमानगर तथा शिव कुमार पुत्र वीरेंद्र कुमार गांव ठांदी बांडा, डाकघर दुधई, तहसील पड़ोना, जिला कुशीमानगर को गिरफ्तार किया था। एक रात हवालात में रखने के बाद इन्‍हें छोड़ दिया गया।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस