धर्मशाला, जेएनएन। दो दिवसीय ग्‍लोबल इन्‍वेस्‍टर्स मीट धर्मशाला के समापन समारोह में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा प्रदेश में कई अनुभव मिलते हैं। मौसम खराब होने की वजह अमित शाह नहीं आ पाए, उनकी पूरी इच्‍छा थी कि वह हिमाचल आएं और इस आयोजन का हिस्‍सा बनें। लेकिन खराब मौसम के कारण वह नहीं आ पाए। हालांकि इन्‍वेस्‍टर्स मीट के पहले दिन मोदी का आना प्रदेश के लिए बड़ी बात है।

गोयल ने कहा मेरा भी प्रदेश से खासा लगाव है, मेरी चाची सपाटू की रहने वाली थीं। प्रदेश आना जाना लगा रहता है। प्रदेश के खून में अतिथियों का सम्मान है, 1978 में पहली बार प्रदेश में आया था और मौका मिलने पर आना नहीं भूलता। प्रदेश को सरकार को उसकी मेहनत का फल मिलेगा। पहले प्रयास में एक छोटे से प्रदेश ने इतना बड़ा आयोजन कर दिखाया। पीयूष गोयल ने कहा हर क्षेत्र में प्रदेश अन्य राज्यों से आगे है, इसके पीछे मोदी और जयराम की सोच है। केंद्र और प्रदेश दोनों सरकारें मिलकर काम कर रही हैं। मोदी ने यह सही कहा है कि हिमाचल उनका अपना प्रदेश है और निवेशकों के हित यहां सुरक्षित रहेंगे। प्रदेश ने अपनी पहली इन्वेस्टर मीट में बड़ी छलांग लगाई है।

इन्वेस्टर्स मीट के समापन समारोह में बतौर मुख्‍य अतिथि पहुंचे पीयूष गोयल का सीएम जयराम ने कांगड़ा पेंटिंग देकर स्‍वागत किया। इन्‍वेस्‍टर्स मीट में 635 निवेशकों ने 92,818 करोड़ रुपये के एमओयू साइन किए। इन्‍वेस्‍टर्स मीट में 201 विदेशी अौर 2000 देश के निवेशकों ने भाग लिया। इसके अलावा 10 देशों के राजदूतों सहित 16 देशों सहित इन्वेस्टर मीट कंट्री पार्टनर यूएई के प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने भाग लिया।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप