धर्मशाला, जेएनएन। आगरा में ट्रेनिंग के दौरान कांगड़ा के जवान अमित कुमार की मौत के बाद शनिवार सुबह शव पैतृक गांव पहुंचाया गया। निजी कंपनी में नौकरी करने वाले अमित कुमार के छोटे भाई ने पार्थिव देह को अग्‍िन दी। शव आगरा से पठानकोट तक हवाई जहाज में लाया गया व सुबह सड़क से गांव तक पहुंचाया गया। करीब साढ़े दस बजे वायु सेना के अधिकारी शव लेकर गांव पहुंचे। अमित कुमार का शव देखकर उनकी पत्‍नी व पिता शक्ति चंद बेसुध हो गए।

कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश) के पुलिस पोस्ट बड़ोह के गांव बूसल निवासी 27 वर्षीय अमित सिंह पुत्र शक्ति सिंह कमांडो थे। उन्‍होंने आगरा में ट्रेनिंग के दौरान 6000 फीट की ऊंचाई से जंप किया था, लेकिन पैराशूट न खुलने से यह हादसा हुआ। वह भुज में तैनात थे। वायु सेना अधिकारियों के अनुसार मलपुरा ड्रापिंग जोन में वीरवार शाम अमित ने एएन-32 से छह हजार फीट की ऊंचाई से छलांग लगाई। पैराशूट नहीं खुलने पर वह सीधे जमीन पर आकर गिरे। ड्रापिंग जोन में मौजूद साथी पैराजंपर उन्हें मिलिट्री अस्पताल लेकर गए। वहां उनकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम में कमांडो की गर्दन की हड्डी टूटने और सिर में गंभीर चोटों से मौत होना बताया गया है।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप