धर्मशाला, जेएनएन। हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से चौथी बार सांसद चुने गए भाजपा के युवा नेता अनुराग ठाकुर ने मोदी-दो सरकार में मंत्री पद की शपथ ली। अनुराग ठाकुर को राज्‍य मंत्री का कार्यभार सौंपा गया है। मोदी सरकार में हिमाचल प्रदेश को प्रतिनिधित्‍व मिला है। लगातार चौथी बार जीतकर संसद पहुंचे अनुराग को इस बार मंत्री पद की जिम्‍मेवारी दी गई है।

दोपहर बाद से ही हिमाचल में अनुराग के मंत्री बनने की चर्चा सोशल मीडिया पर तेज हो गई थी। एेन मौके पर अनुराग ठाकुर को फोन आया कि वह मंत्री पद की शपथ लेंगे। अनुराग के नाम की घोषणा के बाद उनके गृह जिला हमीरपुर सहित पूरे प्रदेश में जश्‍न का माहौल है। शपथ ग्रहण समारोह में हिमाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री जयराम ठाकुर सहित समस्‍त मंत्री व अन्‍य वरिष्‍ठ नेता भी मौजूद रहे।

अनुराग ठाकुर का जन्म 24 अक्टूबर 1974 को हमीरपुर के समीरपुर में प्रेम कुमार धूमल और शीला धूमल के घर पर हुआ। उनके छोटे भाई अरुण धूमल जालंधर में शिक्षण संस्थान चलाते हैं। अनुराग की शादी 2002 में पूर्व मंत्री ठाकुर गुलाब सिंह की बेटी शैफाली से हुई। उनके दो बेटे जय आदित्य सिंह और उदयवीर सिंह हैं। अनुराग की प्रारंभिक शिक्षा दयानंद मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल जालंधर में हुई। इसके बाद दोआबा कॉलेज से स्नातक की।

अनुराग ठाकुर लोकसभा में पार्टी चीफ व्हिप, सांसद रत्न अवार्ड 2019, फेम इंडिया श्रेष्ठ सांसद अवार्ड 2018, हॉकी हिमाचल के अध्यक्ष, टेबल टेनिस एसोसिएशन अध्यक्ष, विश्व व्यापार संगठन जैसे प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय मंच पर साढे चार साल से भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। भारत के युवा सांसदों में से एक अनुराग 2011 में सर्वश्रेष्ठ युवा सांसद का पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं। संसद के सदस्य (सांसद)-14वीं से 16वीं लोकसभा तक हमीरपुर सीट से लगातार चार बार रिकार्ड जीत दर्ज की। आइटी मंत्रालय की संसदीय स्थायी समिति, पब्लिक एकाउंट्स समिति सदस्य, संसदीय दल के प्रवक्ता, विद्युत मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समिति के सदस्य हैं। अनुराग की संसद में उपस्थिति प्रभावशाली 91 फीसद रही है।

भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे

अनुराग ठाकुर 2010 में भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने। 2013 में दूसरे कार्यकाल में फिर से भाजयुमो अध्यक्ष बनने वाले देश के पहले नेता बने। वहीं तीसरे कार्यकाल में 2014 में तीसरे बार मोर्चे के अध्यक्ष बने। तीन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, राजनाथ ङ्क्षसह और नितिन गडकरी के नेतृत्व में काम किया है।

क्रिकेट करियर

अनुराग ने 14 वर्ष की आयु में अपना क्रिकेट करियर शुरू किया। उन्हें दिल्ली और पटियाला में इंग्लैंड के खिलाफ अंडर-19 टीम के लिए चयनित किया गया। वह पंजाब अंडर-19 क्रिकेट टीम और ऑल इंडिया चैंपियनशिप जीतने वाली नॉर्थ जोन अंडर-19 टीम के कप्तान थे। क्रिकेट के लिए उनका जुनून कांगड़ा स्थित धर्मशाला के सुरम्य अंतरराष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट स्टेडियम के निर्माण के रूप में भी सामने आया।

  • 1992-93 में पंजाब रणजी टीम के कैप्टन रहे
  • 25 साल की उम्र में हिमाचल प्रदेश राज्य क्रिकेट संघ के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष।
  • हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष रहते अनुराग ठाकुर ने एक फस्र्ट क्लास मैच भी खेला। इस मैच में वह खुद कप्तान थे और उन्होंने दो विकेट भी लिए थे।
  • भारतीय जूनियर क्रिकेट टीमों का चयन करने के लिए 2001 में 26 साल की उम्र में सबसे युवा राष्ट्रीय चयनकर्ता बने।
  • हिमाचल प्रदेश ओलंपिक संघ के अध्यक्ष
  • हॉकी हिमाचल प्रदेश के महासचिव।
  • भारतीय ओलंपिक संघ के कार्यकारी सदस्य रह चुके हैं।
  • बीसीसीआई के संयुक्त सचिव रहे।
  • 22 मई 2016 को बीसीसीआइ के अध्यक्ष चुने गए। वह बीसीसीआइ के 34वें और दूसरे कम उम्र के अध्यक्ष रहे हैं।

    सेना का हिस्सा बने

    जुलाई 2016 में क्षेत्रीय सेना का हिस्सा बने। क्षेत्रीय सेना में नियमित रूप से कमीशन अधिकारी बनने के लिए संसद के पहले सदस्य हैं। सेना प्रमुख जनरल सुहाग ने टेरीटोरियल आर्मी में शामिल किया। सेना में लेफ्टिनेंट भी हैं। वर्तमान में वह 124 सिख बटालियन के लेफ्टिनेंट के रूप में प्रादेशिक सेना में सेवा प्रदान कर रहे हैं।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप