कांगड़ा, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश में 1 दिसंबर से मेडिकल कॉलेज नर्सिंग कॉलेज 100 फ़ीसदी स्टाफ के साथ खुल जाएंगे। मेडिकल नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टाफ को नेगेटिव रिपोर्ट के साथ अभिभावकों से लिखित में सहमति पत्र लाना होगा।

1 दिसंबर से प्रथम व अंतिम वर्ष की कक्षाएं आरंभ होंगी जबकि अन्य की कक्षाएं 7 दिसंबर से आरंभ होंगी।  यह जानकारी स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने शिमला में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान दी उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेजों के साथ ही नर्सिंग व पैरामेडिकल की कक्षाएं भी आरंभ की जा रही है। प्रदेश में कोविड के मरीजों के लिए नए तीन कोविड अस्पताल कुल्लू में, शिमला के रामपुर खनेरी और रोहडू में खोले जा रहे हैं। यह 1 दिसंबर से कार्य करना शुरू कर देंगे। 

प्रदेश के 3 जिलों कांगड़ा मंडी और शिमला के लिए 10 10 एंबुलेंस की व्यवस्था की जा रही है यह 10 एंबुलेंस जिला में मौजूद एंबुलेंस से प्रदान की जाएंगी जो पहले से प्रदेश में सेवाएं प्रदान कर रही 108 एंबुलेंस सेवा की 45 एंबुलेंस के अतिरिक्त होंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्‍वास्‍थ केंद्रों और को भी 10 सालों में विष्णु की कोई कमी नहीं है और ना ही ऑक्सीजन की कमी है धर्मशाला और डीडीओ में बीते दिनों ऑक्सीजन की कमी को लेकर कहा कि धर्मशाला में ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर आ रही गाड़ी का एक्सीडेंट होने के कारण दिक्कत 1 दिन के लिए आई थी और वहां पर अतिरिक्त 50 ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवा दिए हैं और धर्मशाला में भी 100 अतिरिक्त सिलेंडर उपलब्ध करवाए गए हैं।

कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग और सरकार पूरी तरह से सक्षम है और इनसे निपटने की व्यवस्था की जा रही है स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने माना कि कोरोनावायरस में की ढलाई के लिए सरकार के साथ लोग भी कहीं ना कहीं जिम्मेदार हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप