ऊना,संवाद सहयोगी। प्रदेश सरकार ने खेलों को बढ़ावा देने के लिए नई खेल नीति बनाई है, जिसमें खिलाड़ियों की प्रोत्साहन राशि में वृद्धि की गई है। यह बात मंगलवार को छठे वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने बसदेहड़ा स्टेडियम से ड्रग फ्री हिमाचल मैराथन को हरी झंडी दिखाने के बाद कही। मैराथन बसदेहड़ा से आरंभ होकर भटोली से बनगढ़ होते हुए वापस बसदेहड़ा स्टेडियम पहुंची। सत्ती ने कहा कि मैराथन का मुख्य उद्देश्य युवा पीढ़ी को नशे से दूर रखने व शारीरिक रूप से फिट रखने के लिए प्रेरित करना है। साथ में उनमें अनुशासन की भावना जागृत करना भी है।

खेल के मैदान हम अनुशासन सीखाते हैं, इसलिए युवाओं को खेल के मैदान तक लाना आवश्यक हो जाता है। मैराथन में बादल चौधरी ने पहला स्थान पाया। सत्ती ने उन्हें 5100 रुपये, सेगा शूज व 20 ग्राम सिल्वर का सिक्का देकर सम्मानित किया। अभिषेक को द्वितीय स्थान प्राप्त करने पर 4100 रुपये, सेगा शूज व 10 ग्राम सिल्वर का सिक्का, तीसरा स्थान पाने पर अंकुश को 3100 रुपये, सेगा शूज व 10 ग्राम चांदी का सिक्का, चौथा स्थान प्राप्त करने वाले चेतन कुमार को 2100 रुपये व सेगा शूज और नवजोत ¨सह को पांचवां स्थान हासिल करने पर 1100 रुपयेके नकद पुरस्कार के साथ सेगा शूज से सम्मानित किया गया।

वहीं लड़कियों में सिया को 20 ग्राम चांदी का सिक्का, मानसी व मनप्रीत को 10 ग्राम चांदी का सिक्का देकर सम्मानित किया। वहीं 50 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में ओम प्रकाश, संजीव लट्ठ व राजीव भारद्वाज को 10-10 ग्राम के चांदी के सिक्के देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा छठे से 15वें स्थान तक रहने वाले प्रतिभागियों को सेगा शूज और अन्य 100 प्रतिभागियों को स्पो‌र्ट्स किट देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सोनी ज्यूलर्स से संजीव, स्टार इंपैक्ट से सेगा शूज की ओर से हरून रशीद, प्रधानाचार्य बसदेहड़ा स्कूल रा¨जद्र महल, रमन सहोड़, अरविंद, भीष्म पाल, शमशेर गिल, दर्शन सिंह, कुलवंत सिंह, प्रवीण कुमार सहित अन्य उपस्थित रहे।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट