सुंदरनगर, संवाद सहयोगी। Mandi Sundernagar News, जिला मंडी के सुंदरनगर उपमंडल में सलापड़ और कांगू में जहरीली शराब के सेवन से हुई चार लोगों की मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। लोगों का आरोप है कि इस जहरीली शराब को बेचने के मामले में कई दफा आबकारी विभाग और पुलिस विभाग को अवगत करवाया गया है। लेकिन इसके बावजूद दोनों विभागों द्वारा इस मामले में शराब माफिया के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई। यदि समय रहते शराब माफिया के खिलाफ शिकंजा कसा जाता तो आज इन लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

बताया जा रहा है कि इस घटना के तुरंत बाद कुछ लोगों ने शराब की बची हुई पेटियों को क्षेत्र में किसी स्थान पर फेंक दिया है। ऐसे में अब पुलिस ने सलापड़ से कांगू और इसके आसपास के क्षेत्रों में छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि अवैध शराब के इस कारोबार में कौन-कौन लोग शामिल हैं। माफ‍िया की ओर से चंडीगढ़ से शराब की खेप क्षेत्र में  ठिकाने लगाई जा रही है। पुलिस की जांच के बाद यह स्‍पष्‍ट हो पाएगा कि उन्‍होंने कौन सी शराब पी थी।

कांगू पंचायत के प्रधान कमल ठाकुर ने बताया कि सलापड़ से लेकर कांगू तक कई जगह चंडीगढ़ से अवैध रूप से लाई जा रही देशी शराब अवैध तरीके से सस्ते दामों पर बेची जा रही है। कम पैसे में अधिक नशे वाली इस शराब को पीने के कारण ही 4 लोग काल का ग्रास बने हैं, जबकि 3 अन्य लोग नेरचौक मेडिकल कालेज में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस की नाक तले क्षेत्र में अवैध शराब का कारोबार फल फूल रहा है। चिकन कार्नरों में धड़ल्ले से शराब बेची जा रही है। उन्होंने प्रसाशन से ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाए जाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: सुंदरनगर में जहरीली शराब पीने से एक ही गांव के चार लोगों की मौत, तीन और की हालत नाजुक

Edited By: Rajesh Kumar Sharma