हमीरपुर, जागरण संवाद केंद्र। सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कुठेड़ा व टिब्बी पंचायत में बेसहारा पशुओं से परेशान ग्रामीणों को अब राहत मिलेगी। बुधवार को पशु पालन विभाग की ओर से इन पशुओं को पकड़कर गौ अभयारण्य खैरी, सुजानपुर में भेजने की कवायद शुरू हो गई है।

पशु पालन विभाग की ओर से वेटरिनरी फार्मासिस्ट रवि डोगरा ने कुठेड़ा व टिब्बी के ग्रामीणों के सहयोग से पांच बेसहारा पशुओं को पकड़ा। वीरवार को इन पशुओं को टैग लगाकर गाड़ी में भरकर गौ अभयारण्य खैरी भेजा जाएगा। इस समस्या को दैनिक जागरण ने प्रकाशित किया था।

इस संबंध में कुठेड़ा पंचायत के पूर्व प्रधान अमन जस्वाल उर्फ गोल्डी का कहना है कि कुठेड़ा व टिब्बी पंचायत में बेसहारा पशुओं की तादात बहुत ज्यादा है। ये पशु किसानों की गेहूं की फसल को चट कर रहे हैं। इन पशुओं से परेशान अधिकतर ग्रामीणों ने खेती करना छोड़ दिया है। अब भी कई पशु बेसहारा घूम रहे हैं। अगर ग्रामीण सहयोग करें तो इन्हें गौ अभ्यारण्य भेजकर परेशानी से निजात मिल सकती है। इससे पहले कुठेड़ा व टिब्बी पंचायत की बीडीसी सदस्य नीलम कुमारी ने भी उपायुक्त हमीरपुर देबाश्वेता बनिक को पशु पालन विभाग को निर्देश देने के लिए पत्र लिखा था। उन्होंने कहा कि प्रशासन के साथ-साथ ग्रामीणों को भी इस मुहिम में सहयोग करना चाहिए। लोगों को पशुओं को बेसहारा नहीं छोडऩा चाहिए। अकसर लोग अपना काम निकलने या पशु के घायल होने पर उन्हें बेसहारा छोड़ देते हैं। ऐसा करने से बेसहारा पशुओं की तादात बढ़ती जा रही है।

उपायुक्त को कुठेड़ा व टिब्बी पंचायतों में बेसहारा पशुओं से निजात दिलाने के लिए पत्र लिखा था। पशु पालन विभाग को इन पशुओं को पकड़कर खैरी स्थित गौ अभयारण्य भेजने के लिए कहा गया है। बुधवार को पांच पशुओं को पकड़ा गया है। इन्हें टैग लगाए जाएंगे।

-नीलम कुमारी, बीडीसी सदस्य कुठेड़ा व टिब्बी पंचायत।

Edited By: Virender Kumar