धर्मशाला, एएनआइ/जेएनएन। कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन में फंसे लोगों की घर वापसी के लिए हिमाचल सरकार ने नोडल अधिकारी तैनात किए हैं। सरकार हर राज्य में फंसे लोगों को वापस लाने के लिए कार्य कर रही है। पंजाब व चंडीगढ़ के बाद कर्नाटक और गोवा से ट्रेन के माध्यम से लोगों को वापस लाया गया है।

इसके अलावा अगले दस दिन में महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों से लोगों की वापसी के लिए ट्रेन चलाई जाएंगी। लेकिन प्रदेश सरकार को झारखंड सरकार से कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है। इस पर अब हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने इस संबंध में पत्र लिखा है।

सीएम जयराम ठाकुर ने झारखंड सरकार से दोनों राज्यों में फंसे लोगों की घर वापसी के लिए सहमति बनाने की मांग की है। जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार के नोडल अधिकारी झारखंड सरकार के अधिकारियों से कई बार संवाद कर चुके हैं। लेकिन कोई सकारात्मक जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है।

हिमाचल सरकार के आॅनलाइन पाेर्टल पर अब तक झारखंड के 3290 लोग घर वापसी के लिए आवेदन कर चुके हैैं, जबकि झारखंड में भी हिमाचल के लोग फंसे हैं जो वापस आना चाहते हैं। लेेकिन दोनों स्तर पर उचित संवाद न होने के कारण लोग घर वापसी नहीं कर पा रहे।

जयराम ठाकुर ने झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन से आग्रह किया है कि वह दोनों राज्यों के प्रवासियों को अपने-अपने राज्याें में आने व जाने के लिए सहमति प्रदान करने को संबंधित अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश जारी करें, ताकि इस संबंध में जल्द आगामी कार्रवाई की जा सके।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस