शिमला/धर्मशाला, जागरण टीम। Himachal Weather Update, हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश का दौर जारी है। अभी यह सिलसिला चार दिन तक चलने वाला है। मौसम विभाग ने अगले चार दिन पूरे प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मानसून की बारिश शुरू होने से न्यूनतम तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। न्यूनतम तापमान सामान्य से एक से दो डिग्री सेल्सियस कम रिकार्ड किया गया है। वहीं, भारी बारिश के कारण भूस्‍खलन का भी खतरा है। सरकार व प्रशासन ने यातायात को लेकर भी एडवायजरी जारी की है। भूस्‍खलन संभावित क्षेत्र में खास एहतियात करतें व वहां कतई न रुकें। भारी बारिश के मौसम में सोच समझकर ही यात्रा करने की सलाह जारी की गई है।

दक्षिण-पश्चिमी मानसून ने बुधवार को हिमाचल प्रदेश में दस्तक दे दी है। मानसून पहुंचने के साथ ही शिमला, मंडी, सिरमौर और कांगड़ा सहित प्रदेश के अन्य जिलों में भारी बारिश हुई है। इस साल प्रदेश में मानसून अपने तय समय से चार दिन देरी से पहुंचा है। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश में मानसून के आने की समय अवधि 25 जून है। पिछले 10 साल के रिकार्ड को देखा जाए तो चार बार प्रदेश में मानसून देरी से पहुंचा है। पिछले वर्ष मानसून ने 13 जून को पहुंचा था। वर्ष 2002 में दो जुलाई को मानसून पहुंचा था। इस बार लोग मानसून के आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। मानसून के पहुंचने से एक और जहां लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली है, वहीं सूखे की स्थिति से भी अब राहत मिलने की उम्मीद है।

मौसम विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल ने प्रदेश में मानसून के आने की अधिकारिक पुष्टि की है। सुरेंद्र पाल ने कहा कि प्रदेश में अगले दो-तीन दिन तक मानसून की अच्छी बारिश होगी। जुलाई में मानसून काफी सक्रिय रहेगा। प्रदेश में मानसून सितंबर तक रहेगा।

चुवाड़ी-लाहडू मार्ग पर कार पर गिरे पत्थर

जिला चंबा में चुवाड़ी-लाहडू मार्ग पर बुधवार को पंजाब के पर्यटक हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बच गए। भारी मात्रा में मलबा तथा पत्थर कार पर आ गिरे। कार में होशियारपुर के चार पर्यटक मौजूद थे, जो जोत की ओर जा रहे थे। डंगे तथा सड़क के बीच मौजूद खाली जगह के कारण कार वहीं पर फंस गई। मलबा गिरते ही कार में मौजूद लोग बाहर निकल आए। वहीं, कांगड़ा के मिनी सचिवालय में दो पेड़ परिसर में खड़ी छह गाडिय़ों में गिर गए। इससे सभी गाडिय़ों को नुकसान पहुुुंचा है।

सरकाघाट में सर्वाधिक 109 मिलीमीटर बारिश

पिछले 24 घंटों के दौरान सरकाघाट में सर्वाधिक 109 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके अतिरिक्त भोरंज में 100, सुजानपुर में 84, बलद्वाड़ा में 72, भराड़ी में 69, बड़सर में 63, देहरा गोपीपुर में 54, जुब्बलहट्टी व पालमपुर में 48-48, पंडोह में 47, नादौन व बिलासपुर में 39-39, अर्की में 34, गग्गल में 33 मिलीमीटर  बारिश दर्ज की गई। राजधानी शिमला में बुधवार को सुबह 10 बजे शुरू हुआ बारिश का सिलसिला दोपहर तक चला।

राज्य में तापमान की स्थिति

  • शहर, न्यूनतम, अधिकतम
  • शिमला,18.0,22.0
  • सुंदरनगर,22.1,27.1
  • भुंतर,23.2,30.4
  • कल्पा,16.5,26.3
  • धर्मशाला,21.2,26.5
  • ऊना,25.6,36.2
  • नाहन,23.9,25.9
  • केलंग,15.3,27.2
  • पालमपुर,20.5,25.5
  • सोलन,20.6,22.5
  • मनाली,20.2,26.8
  • कांगड़ा,23.0,29.0
  • मंडी,22.7,27.2
  • बिलासपुर,25.0,29.0
  • हमीरपुर,23.2,30.5
  • चंबा,24.4,32.3
  • डलहौजी,18.3,23.4
  • कुफरी,15.2,19.3

Edited By: Rajesh Kumar Sharma