शिमला, जागरण संवाददाता। Himachal Pradesh School Reopen News, हिमाचल में स्कूल खोलने को लेकर प्रदेश सरकार ने अब फैसला जनता और हितधारकों पर छोड़ दिया है। शिक्षा विभाग ने सरकार को स्कूल खोलने के संबंध में दो प्रस्ताव भेजे हैं। सरकार ने अब अभिभावकों और स्टेक होल्डर यानी निजी स्कूल प्रबंधकों, कोचिंग सेंटर व अन्य शिक्षण संस्थान संचालकों से भी राय मांगी है। इसमें पूछा है कि प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसी स्थिति में क्या स्कूलों को खोलने के हक में हैं। लोगों के सुझावों को मंत्रिमंडल की बैठक में रखा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग भी बैठक में प्रस्तुति देगा। उसमें कोरोना की स्थिति को देखा जाएगा। उसके आधार पर स्कूल खोलने के संबंध में अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने पत्रकारों से बातचीत में इस संबंध में स्थिति‍ स्‍पष्‍ट की है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों के साथ इसको लेकर बैठक भी की। प्रदेश सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 31 जनवरी तक के लिए शिक्षण संस्थानों को बंद किया है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्कूल और अन्य शिक्षण संस्थान भले ही बंद हैं, लेकिन आनलाइन पढ़ाई जारी है। इसके अलावा कितने बच्चों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी है इसका भी पूरा रिकार्ड देखकर सरकार आगामी निर्णय लेगी।

कानूनी प्रक्रिया के बीच जेबीटी भर्ती शुरू करने पर विधि विभाग से मांगी राय

शिक्षा मंत्री ने कहा कि जेबीटी भर्ती को लेकर मामला कोर्ट में विचाराधीन है। कोर्ट केस के बीच नए सिरे से भर्ती शुरू कर सकते हैं या नहीं, इसको लेकर विधि विभाग से राय मांगी गई है। उन्होंने कहा कि विधि विभाग से राय आने के बाद इस पर आगामी निर्णय विभाग लेगा। एसएमसी शिक्षकों को लेकर सरकार जल्द ही कोई निर्णय लेगी।

फरवरी में शुरू होगी प्री प्राइमरी शिक्षक भर्ती

शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्कूलों में प्री नर्सरी कक्षाओं को पढ़ाने का काम अभी जेबीटी शिक्षक कर रहे हैं। इन कक्षाओं के लिए अलग से शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। इसके लिए प्रक्रिया चली हुई है। जल्द ही इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा। यह तय है कि फरवरी में इस प्रक्रिया को शुरू कर दिया जाएगा।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma