शिमला, जागरण टीम। BJP National Executive Meeting, हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की रणनीति हैदराबाद में बनेगी। आज बैठक शुरू हो गई है। दो दिवासीय बैठक में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में तय किया जाएगा कि गुजरात व हिमाचल में होने वाले चुनाव के लिए क्या-क्या फैसले हो सकते हैैं। भाजपा एक दशक से चुनाव को जितना गंभीरता से ले रही है, इससे साफ है कि बैठक में पार्टी के कार्यक्रमों का आगामी रोडमैप तय होगा और गुजरात व हिमाचल में होने वाले चुनाव पर भी चर्चा होगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुरेश कश्यप बैठक में हिस्सा ले रहे हैं।

हिमाचल में चल रही राजनीतिक गतिविधियों व सरकार के कार्यों पर जो फीडबैक दिया गया है, उस पर भी बैठक में चर्चा संभावित है। आने वाले समय में क्या करना है, इसके लिए भी गाइडलाइन जारी हो सकती है। यह भी तय होगा कि केंद्र व प्रदेश सरकार के जनहितैषी फैसलों के साथ भाजपा के कार्यक्रम किस तरह जनता तक पहुंचाने हैं, इसका पूरा खाका तैयार किया जाएगा। हिमाचल में पार्टी ने अंदरूनी तौर पर जो सर्वेक्षण करवाए हैैं, उस पर मंथन किया जा सकता है। सर्वेक्षण के आधार पर पार्टी चुनाव मैदान में प्रत्याशी उतारेगी।

परिवारवाद पर साफ हो सकती है स्थिति

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में परिवारवाद पर फैसला लिया जा सकता है। इसका हिमाचल में काफी असर पड़ेगा। भाजपा परिवार के किसी भी सदस्य को टिकट नहीं दे रही है। इसे चुनाव में लागू किया गया तो नेताओं के बच्चों का सपना टूट सकता है। यदि फैसले में बदलाव होता है तो नई पीढ़ी परिवार की राजनीतिक विरासत को संभालकर चुनाव मैदान में उतर सकती है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma