मंडी, जागरण संवाददाता। Roads Under PMGSY, अब जिला मंडी के ग्रामीण क्षेत्रों में यातायात और सुगम होगा। जिला की 181 ग्रामीण सड़कों का चयन प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तीसरे चरण में हुआ है। इसके तहत सड़कों के ब्लैक स्पाट और तंग जगह को चौड़ा किया जाएगा, ताकि हादसे कम से कम हों। केंद्र सरकार ने पहले प्रदेश भर पीएमजीएसवाई के तहत केवल राज्य की 45 और मंडी जिला की में 11 सड़कों का चयन किया था। इसके बाद साफ्टवेयर और सड़कों की अपग्रेडेशन के रिकार्ड को देखते हुए जिला के आठ डिविजनों में इनका चयन किया गया है।

सराज की सबसे कम व बल्‍ह की सबसे ज्‍यादा सड़कें चयनित

इसमें सराज में सबसे कम 17 और बल्ह में सबसे अधिक 36 सड़कें ग्रामीण क्षेत्रों की चयनित की गई हैं। केंद्र सरकार की ओर से अब रिपोर्ट मिलने के बाद संबंधित डिविजनों के अधिकारियों ने डीपीआर बनाने की कार्रवाई आरंभ कर दी है।

जिला में 290 ब्‍लैक स्‍पाट

योजना के तहत चुनी गई ग्रामीण सड़कों में सुंदरनगर की 23, सराज की 17, मंडी की 21, करसोग की 22, द्रंग की 21, चच्योट की 24, बालीचाैकी की 17 और बल्ह की 36 सड़कों को शामिल किया गया है। इन सड़क मार्गाें में जहां जहां ब्लैक स्पाट है वहां को भी चिन्हित विभाग करके उनको किस तरह से ठीक करना है उस पर भी डीपीआर में प्राविधान करेगा। जिला में हुए सर्वे क तहत 290 ब्लैक स्पाट में से 180 पर अभी काम होना है।

181 सड़कों का हुआ चयन

लोक निर्माण विभाग मंडी के अधीक्षण अभियंता केके कौशल का कहना है पीएमजीएसवाई के तीसरे चरण में इस बार मंडी के आठ डिविजनों की 181 सड़कों का चयन रखरखाव व स्तरोन्नत करने के लिए हुआ है। जल्द ही इसकी डीपीआर तैयार करने के आदेश दे दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: Himachal Snowfall Places: दिसंबर में इन 6 जगह उठाएं बर्फबारी का लुत्‍फ, बर्फ से बने घर में भी रहने का मौका

Edited By: Rajesh Kumar Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट