मनाली, जागरण संवाददाता। अगर आप क्रिसमस और न्यू ईयर घर से बाहर मनाने का मन बना रहे हैं तो सीधा हिमाचल चले आएं। मनाली के पर्यटन स्थल बर्फ से लद गए हैं। इस वर्ष सैलानी मनाली में व्हाइट क्रिसमस मना सकते हैं और नया साल पर बर्फ की सफेदी के बीच। पर्यटन कारोबारी सैलानियों के क्रिसमस व न्यू ईयर को यादगार बनाने में जुट गए हैं। सैलानी कैंडल लाइट डिन्नर के साथ कुल्‍लवी वाद्य यंत्रों पर भी झूम सकेंगे। शिमला के कुफरी और डलहौजी समेत मैकलोडगंज के ऊंचाई वाले स्‍थानों में भारी बर्फ पड़ी है।

अधिकतर होटलों ने कुल्‍लवी नाटी व डीजे की व्यवस्था कर दी है। इस बार हुई भारी बर्फबारी से सैलानी पर्यटन स्थलों में बर्फ का आनंद उठा सकेंगे। सभी होटलियर्स ने सैलानियो को आकर्षक पैकेज दिए हैं। कोई 30 फीसद छूट दे रहे हैं तो कोई तीन रात ठहरने पर चौथी रात निशुल्क दे रहे हैं।

पर्यटन स्थलों में लगा सैलानियों का मेला

तीन दिन लगातार बर्फबारी का क्रम चलने से सोलंगनाला में तीन फीट बर्फ की मोटी चादर बिछ गई है। शनिवार को धूप खिलते ही सोलंगनाला में सैलानियों का मेला लग गया। साथ ही धार्मिक पर्यटन स्थल अंजनी महादेव में भी पर्यटक श्रद्धालुओं से रौनक बढ़ गई है। तीन दिन मौसम के खराब रहने से सैलानी सोलंगनाला तक नहीं पहुंच रहे थे। लेकिन शनिवार को खिली धूप के कारण सोलंग मैदान सैलानियों से भर गया। धूप खिलते ही अंजनी महादेव मंदिर बर्फ की सफेद चांदी से चकम उठा।

मौसम साफ होते ही एक ओर जहां सोलंगनाला में सैलानियों का मेला गल गया वहीं अंजनी महादेव मंदिर में भी सैलानियों से रौनक बढ़ गई। सोलंग के पर्यटन स्थल फातरु में चार फीट ताजा बर्फबारी हुई है। शनिवार को सैलानियों ने रोपवे के माध्यम से फातरु की वादियों में भी दस्तक दी। सैलानियों ने खिली धूप के बीच विभिन्न साहसिक गतिविधियों में भाग लेकर बर्फ में बिताए लम्हों को कैमरे में कैद किया। पर्यटन व्यवसायी रवि व्यास ने बताया शनिवार को सोलंगनाला में सैलानियों का मेला लग गया।

Edited By: Rajesh Sharma