-नगर परिषद और राजपूत सभा में हुआ समझौता

संवाद सहयोगी, कांगड़ा : नगर परिषद कांगड़ा व राजपूत सभा के बीच सीवरेज पाइप लाइन डालने के लिए समझौता हो गया है। समझौते के साथ ही सीवरेज लाइन को लेकर पिछले 16 साल से चला आ रहा विवाद भी समाप्त हो गया है। सीवरेज लाइन डालने के समझौते को लेकर नगर परिषद कांगड़ा में पार्षदों की बैठक बुलाई गई। परिषद अध्यक्ष कोमल शर्मा ने समझौते की जानकारी अन्य पार्षदों को दी। कांगड़ा में पिछले 16 साल से जारी सीवरेज परियोजना का कार्य शुरू हुआ था, परंतु इस परियोजना का कुछ भाग राजपूत सभा की जमीन बीच में पड़ने के कारण काम अधर में था। कांगड़ा प्रशासन, नगर परिषद, सीवरेज विभाग व राजपूत सभा के बीच कई बार सहमति बनाने के लिए विचार विमर्श हुआ, परंतु सहमति नहीं बन पाई। सीवरेज परियोजना के तहत राजपूत सभा से पाइप निकालने से कांगड़ा पुराना बस अड्डा के साथ वार्ड 4, 7, 8 व 9 को भी फायदा होना था परंतु आपसी सहमति न होने के कारण मेन पाइप डालने नही डाली जा सकी थी। इस कारण इन सभी चार वार्ड का कुछ हिस्सा मेन लाइन से नहीं जुड़ पाया था। नगर परिषद अध्यक्ष कोमल शर्मा ने बताया कि राजपूत सभा के अध्यक्ष से बात कर इस विषय में सहमति बनाई गई जिसमें एसडीएम जतिन लाल का भी विशेष रूप से योगदान रहा है।

..............

गलियों में इंटरलॉक टाइलें डालने का कार्य शुरू

मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना के तहत कांगड़ा नगर परिषद के कई गलियों में इंटरलॉक टाइल डालने का कार्य शुरू किया गया था। नगर परिषद अध्यक्ष कोमल शर्मा ने बताया कि परिषद के तीन वार्ड में मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना के गलियों में इंटर लॉक टाइल डालने का कार्य लगभग दो सप्ताह पहले शुरू हुआ था और अब इस योजना के तहत कई गलियों में टाइल डालने का कार्य समाप्त भी हो चुका हे और नई गलियों में टाइल डालने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। इस योजना के तहत डाली गई एंटी लॉक टाइल से गलियों का नया स्वरूप सामने आ गया जिससे गलियों में साफ सफाई भी रह रही है। कोमल शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना से कांगड़ा के सभी वार्ड की गलियों का स्वरूप बदल दिया जाएगा। योजना के अभी तक 300 से अधिक लोगों को रोजगार मिल चुका है। कोरोना संकट में मुख्यमंत्री शहरी आजीविका गारंटी योजना से कांगड़ा में नए विकास के आयाम स्थापित हो रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस