संवाद सहयोगी, देहरा : बीहन में कुछ समय पहले ढलियारा-डाडासीबा मार्ग की करवाई गई मरम्मत परेशानी का सबब बनने लगी है। सड़क के करीब 200 मीटर हिस्से में इंटरलाक टाइलें लगाई गई हैं। डाडासीबा की तरफ से इस नए हिस्से को जोड़ने के लिए बनाया गया रैंप एक फीट ऊंचा व पांच फीट लंबा है। तेज गति से आने वाले वाहन को यहां झटका लगता है। साथ ही नाली पर लगाया गया लोहे का जंगला भी टूट गया है। इससे हर समय हादसा होने का खतरा रहता है। लोगों ने कई बार लोक लोक निर्माण विभाग के समक्ष समस्या उठाई लेकिन अभी तक कोई कदम नहीं उठाया गया है।

ढलियारा-डाडासीबा मार्ग पर प्रतिदिन सैकड़ों वाहनों की आवाजाही होती है। स्थानीय लोगों के साथ दूरदराज से मार्ग पर सफर करने वालों को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है। लोगों ने सरकार व लोक निर्माण विभाग से जल्द रैंप को ठीक करने की मांग उठाई है। सड़क को जोड़ने के लिए बनाया गया रैंप करीब एक फीट ऊंचा है। तेज गति से आने वाले वाहनों को यहां झटका लगता है। दोपहिया वाहन चालकों के लिए यह रैंप ज्यादा खतरनाक है।

-पुष्पिंद्र शर्मा तेज गति से आने वाले वाहनों के चालकों को कई बार रैंप नजर नहीं आता है और अचानक ब्रेक लगानी पड़ती है। इससे हादसा होने का खतरा रहता है।

-गणेश दत्त सड़क किनारे बनाई गई नाली पर लगा लोहे का जंगला टूट गया है। कुछ दिन पहले इसे बदला गया था, लेकिन फिर टूट गया है। इसमें दोपहिया वाहन का टायर फंस सकता है।

-राकेश शर्मा सड़क की मरम्मत से सुविधा तो हुई है, लेकिन परेशानी भी बढ़ी है। वाहन चालकों को दूर से रैंप का अंदाजा नहीं लग पाता है। रैंप की लंबाई बढ़ाने से समस्या दूर हो सकती है।

-प्रवीण धीमान रैंप ऊंचा होने से दोपहिया वाहन चालकों को अधिक परेशानी हो रही है, क्योंकि इस पर चढ़ते ही दोपहिया वाहन बेकाबू हो सकता है। नाली पर लगा जंगला भी बदलना चाहिए।

-अजय कुमार इस सड़क से दिन में कई बार मरीजों को लेकर भी वाहन गुजरते हैं। रैंप पर वाहन गुजरने पर मरीजों का मर्ज बढ़ सकता है। इसलिए विभाग को जल्द रैंप को ठीक करना चाहिए।

-अश्वनी राणा जल्द सड़क की टारिग का काम शुरू करवाया जाएगा। इससे समस्या दूर हो जाएगी। टूटे जंगले की समस्या का भी स्थायी समाधान करवाया जाएगा।

-डीके धीमान, अधिशाषी अभियंता, लोक निर्माण विभाग देहरा

Edited By: Jagran