मंडी/मनाली, जेएनएन। आपदा की इस घड़ी में हिमाचल की बेटी बॉलीवुड क्वीन कंगना रणौत ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 लाख रुपये का योगदान दिया है। इसके अलावा दैनिक आधार पर आजीविका कमाने वाले परिवारों को राशन की खेप भी भेजी है। कंगना ने देश की जनता का एकजुट होकर इस आपदा से निपटने में सरकार का सहयोग करने का आह्वान किया है।

उनका कहना है कोरोना के कारण समाज के एक बड़े तबके के समक्ष रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। देश में कोई भी गरीब या जरूरतमंद भूखा न सोए इसके लिए सबको खुलकर मदद के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने लोगों से अपील की है वे सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करें। सड़क पर निकलने की बजाय अपने घरों में सुरक्षित व स्वस्थ रहें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ने देश के लोगों से प्रधानमंत्री राहत कोष में अधिक अंशदान करने का आग्रह किया था। प्रधानमंत्री राहत कोष में योगदान करने की जानकारी कंगना रणौत की बहन व उनकी प्रवक्ता रंगोली चंदेल ने ट्वीट की है। बकौल रंगोली चंदेल अंशदान के अलावा दैनिक आधार पर आजीविका कमाने वाले परिवारों को राशन की बड़ी खेप भेजी गई है।

कंगना रणौत के पिता अमरदीप सिंह रणौत ने बेटी के इस प्रयास की सराहना की है। कंगना रणौत इन दिनों हिमाचल प्रदेश के मनाली में हैं। कंगना ने कुछ साल पहले ही यहां आशियाना बनाया है। इसके बाद वह अकसर यहां आती रहती हैं। कंगना रणौत ने जहां 25 लाख रुपये पीएम राहत कोष में दान दिए तो उनकी मां आशा रणौत ने भी एक माह की पेंशन कोरोना वायरस से जंग लड़ने के लिए दी। कंगना रणौत की मां शिक्षिका थीं।

कंगना ने श्रीराम के जीवन से त्याग की भावना सीखने का दिया संदेश

बॉलीवुड स्टार कंगना रणौत अपने मनाली स्थित घर में रहकर लॉकडाउन का पालन कर रही है। कंगना लगातार लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से जागरूक कर रही हैं। बचाव के उपाय के साथ घरों में बैठे अपने फेंस के मनोरंजन के लिए कंगना समय समय पर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर रही हैं। आज उन्होंने रामनवमी के अवसर पर भगवान राम के जीवन पर प्रकाश डाला। उन्होंने वीडियो साझा कर उसमें बताया कि श्रीराम के जीवन से हमें क्या सीखने को मिलता है। श्रीराम महत्वपूर्ण क्यों हैं, इस पर कंगना ने अपनी बात रखी। कंगना ने कहा श्रीराम से हमें त्याग सीखने को मिलता है। कंगना ने कहा उन्होंने भी त्याग किया। सिगरेट पीने की बुरी आदत का त्याग किया। कंगना ने अपने घर में नवरात्र पर नौ दिन विधि विधान से पूजा पाठ किया। लगातार नौ दिन नवरात्र का व्रत रखकर साधना की। कंगना ने लगातार नौ दिन अपने घर पर रहकर अपनी बहन रंगोली के साथ न‍वरात्र की पूजा की। उन्होंने बहन रंगोली के साथ व्रत भी रखा।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस