काजा, जागरण संवाददाता। मुख्यमत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में सेवाएं दे रहे कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। जनजातीय भत्ता 450 रुपये से बढ़ाकर 650, शीतकालीन भत्ता 300 से बढ़ाकर 500 रुपये करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को लाहुल स्पीति जिले के स्पीति को 146 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने शिमला से वर्चुअली विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण किया। बारिश के कारण मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मंगलवार को स्पीति नहीं पहुंच पाए। स्पीति घाटी में हालांकि मौसम साफ था, लेकिन शिमला में बारिश व विजिबिलिटी कम होने के कारण हेलीकाप्टर उड़ान नहीं भर सका। स्पीति की जनता बेसब्री से मुख्यमंत्री का इंतजार कर रह थी, लेकिन खराब मौसम ने सभी को निराश कर दिया।

मुख्यमंत्री ने वर्चुअली 146 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के शिलान्यास व उद्घाटन किए। जयराम ठाकुर ने कहा कि कोविड के कारण विकास का कार्य पूरे करने में दिक्कत हुई है, लेकिन हिमाचल सरकार ने प्रदेश के विकास की गति को रुकने नहीं दिया है। कोरोना काल में चार हजार करोड़ से अधिक के शिलान्यास व उद्घाटन कर विकास को गति दी है। उन्होंने समस्त विभागों के अधिकारियों को आदेश दिए कि चल रही सभी योजनाओं के निर्माण कार्य में तेजी लाएं ताकि समस्त लाभकारी योजनाओं का जनता को समय पर लाभ मिल सके। अटल टनल के निर्माण से लाहुल घाटी तक पहुंच आसान हुई है तथा पर्यटन को भी पंख लगे हैं।

उन्होंने कहा कि कोविड से खतरा अभी टला नहीं है इसलिए अभी भी सतर्क रहने की जरूरत है। सरकार ने प्रदेश के हर वर्ग की मदद करने का प्रयास किया है। मुख्यमंत्री ने लाहुल स्पीति के विधायक एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री द्वारा रखी सभी मांगों को मानते हुए स्पीति की जनता से उपचुनावों में समर्थन देने की बात कही। उन्होंने कहा कि पहले भी स्पीति का जनता का उन्हें बढ़-चढ़कर साथ मिला है और इस बार भी मिलने की उम्मीद है। जयराम ने कहा कि विपक्ष लंबे समय तक सत्ता में रहा, लेकिन जन कल्याणकारी योजनाओं को शुरू करने में भाजपा सरकार ही आगे रही है।

Edited By: Vijay Bhushan