धर्मशाला, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय के विरोध में मंगलवार को बैंक कर्मचारी हड़ताल पर हैं। हालांकि इसका मिला जुला असर दिख रहा है। जिला कांगड़ा के बैंकों में क्‍लर्क हड़ताल पर चले गए हैं, लेकिन अधिकारियों की ओर से कामकाज चलाया जा रहा है। उधर, जिला सोलन में हड़़ताल का पूरा असर दिख रहा है, यहां बैंकों में कामकाज ठप है। ऊना जिला में पीएनबी के अलावा अन्‍य बैंकों में कामकाज सुचारू रूप से जारी रहा। इस कारण यहां कारोबारियों ने राहत की सांस ली। लेकिन अन्‍य जिलों में दीवाली और धनतेरस से पहले बैंक बंद होने से कारोबारी परेशान हैं।

बैंक बंद होने का सीधा असर कारोबार पर पड़ सकता है। बैंक हड़ताल के कारण दीवाली के दौरान पैसों के लेन-देन को लेकर कारोबार प्रभावित होने के आसार हैं। हिमाचल प्रदेश बैंक एंप्लाइज फेडरेशन के पदाधिकारियों का कहना है मंगलवार को राजधानी शिमला सहित सभी जिला मुख्यालयों में बैंक कर्मचारी और अधिकारी प्रदर्शन करेंगे। हालांकि जिला कांगड़ा के मुख्‍यालय धर्मशाला में सुबह कोई प्रदर्शन नहीं हुआ।

कर्मचारी केंद्र सरकार से मांग कर रहे हैं कि बैंकों का विलय रोका जाए। खराब ऋण की वसूली सुनिश्चित कर ऋण नहीं चुकाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का प्रावधान किया जाए। कर्मचारी फेडरेशन यह भी मांग कर रही है कि सेवा शुल्क में वृद्धि न की जाए और जमा रकम पर ब्याज दर बढ़ाई जाए।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप