धर्मशाला, जेएनएन। 'कुछ साल से धर्मशाला स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन हुआ है और अगले साल मार्च में भी भारत व दक्षिण अफ्रीका के बीच वनडे मैच प्रस्तावित है। लेकिन अगर प्रदेश को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) में प्रतिनिधित्व मिले तो स्टेडियम में और अधिक आयोजन भी हो सकते हैं। यह बात एचपीसीए के नवनिर्वाचित अध्यक्ष अरुण धूमल ने पत्रकारों से बातचीत में कही। उन्होंने कहा संघ के आदेश का पालन करते हुए ही वह अध्यक्ष पद पर पहुंचे हैं। समय का कोई पता नहीं होता कि कौन कब कहां पहुंच जाए। एचपीसीए और प्रदेश क्रिकेट को जो बढ़ावा अनुराग ठाकुर ने दिलाया है, वह कभी भुलाया नहीं जा सकता।

भविष्य में भी संघ अनुराग ठाकुर से इसको लेकर सुझाव लेता रहेगा। अनुराग ने प्रदेश के क्रिकेट हुनर को अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाया है। इनमें सुषमा वर्मा से लेकर ऋषि धवन तक नाम शामिल हैं। एचपीसीए ने 70 क्रिकेट सब सेंटर स्थापित करने के योजना बनाई है, जिसमें 62 सेंटर के लिए भूमि की तलाश कर ली गई है और 42 की स्थापना कर दी गई है। इस सेंटरों के लिए 42 पुरुष व दो महिला कोच भी तैनात किए गए हैं।

परिवारवाद की बात सही नहीं

बकौल अरुण एचपीसीए अध्यक्ष पद को लेकर हो रही परिवारवाद की बात सही नहीं है, क्योंकि अनुराग ठाकुर व उनके अपने बच्चे भी इस वक्त क्रिकेट खेलते हैं। किसी भी व्यक्ति की रुचि को वंशवाद से जोडऩा तर्कसंगत नहीं होगा, क्योंकि खेल और रूचि को परिवारवाद से जोडऩा उचित नहीं होगा।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस