जसूर, संवाद सहयोगी। Aam Admi Party, केंद्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आम आदमी पार्टी ने हिमाचल में पूरी ताकत से अभियान छेड़ दिया है। 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी सभी विधानसभा क्षेत्रों से अपने उम्मीदवार उतारेगी। यह बात आम आदमी पार्टी के कांगड़ा चंबा संसदीय क्षेत्र के प्रभारी सेवानिवृत्‍त कर्नल नरेंद्र सिंह पठानिया ने जसूर में पत्रकार वार्ता के दौरान कही। उन्‍होंने कहा प्रदेश में डबल इंजन की सरकार होते हुए प्रदेश का विकास ठप पड़ा है। प्रदेश सरकार कर्ज की बैसाखियों पर चल रही है। प्रदेश सरकार की गलत नीतियों के कारण करीब 70 लाख की आबादी पर पैदा होने वाले प्रत्येक बच्चे के सिर पर 55 हजार कर्ज बोझ है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार डीजल ,पेट्रोल ,गैस के दामों में लगातार वृद्बि कर जनता को महंगाई की आग में झोंक रही है। युवा रोजगार के लिए भटक रहे हैं लेकिन निजीकरण को बढ़ावा दे रही केंद्र सरकार पूंजीपतियों की कठपुतली बनकर कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल बिजली पैदा करने वाला राज्य में है लेकिन प्रदेश के लोगों को हजारों रुपये के बिजली बिल आ रहे हैं जबकि दिल्ली सरकार पात्र लोगों को मुफ्त बिजली प्रदान कर रही है।

प्रदेश में बनने वाला सीमेंट प्रदेश की जनता को चार सौ से भी ज्यादा मूल्य पर प्रति बैग मिल रहा है जबकि दिल्ली में 310 रुपये प्रति बैग जनता को मुहैय्या करवाया जा रहा है। प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाएं शून्य स्तर की हैं तो दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पठानकोट मंडी फोरलेन योजना के विस्थापितों को भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 के तहत फैक्टर के दो के हिसाब से मुआवजा न देकर 1956 के एक्ट को लगाकर बहुत बड़ा धोखा किया जा रहा है।

हिमाचल में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने पर दिल्ली मॉडल लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र के छह विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी की कमेटियां गठित कर दी गई हैं। उन्होंने कहा चार नगर निगम के चुनाव में बेशक पार्टी को कामयाबी नहीं मिली। लेकिन मात्र एक माह की मेहनत के बल पर पार्टी छह फीसद मत लेने में कामयाब रही है। इस अवसर पर पार्टी के पदाधिकारी शेर सिंह, जसविंदर, भहेश कुमार भी मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप