कांगड़ा, संवाद सहयोगी। Birta Village Dispute, उपमंडल कांगड़ा के तहत वीरता में शुक्रवार को भूमि विवाद को लेकर दो गुटों में हुई खूनी झड़प में एक व्‍यक्‍त‍ि की मौत हो गई है। सुभाष कुमार टांडा से पीजीआइ रेफर किया गया था, लेकिन उसकी हालत बेहद नाजुक थी, जिसने दम तोड़ दिया है। पुलिस ने इस मामले में नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्‍हें गिरफ्तार किया है, इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। तेजधार हथियारों से गंभीर रूप से घायल हुए दो लोगों में से एक व्यक्ति ने शनिवार सुबह चंडीगढ़ पीजीआई में दम तोड़ दिया। पुलिस उप अधीक्षक सुनील राणा ने बताया कि सुभाष ने शनिवार सुबह पीजीआई में दम तोड़ दिया। उन्होंने बताया पिछले कल ही सुभाष की हालत काफी चिंताजनक थी। उन्होंने बताया कांगड़ा पुलिस अब आईपीसी की धारा 302 के तहत भी कार्रवाई करने जा रही है।

यहां बता दें कि वीरता में जमीनी विवाद में दराट व डंडों के प्रहार से चार लोग घायल हो गए थे। इनमें से राकेश व सुभाष की हालत गंभीर होने के चलते उन्हें पीजीआइ रेफर कर दिया था। मामले में पुलिस ने नौ आरोपितों करतार चंद, राजिद्र कुमार, रविद्र कुमार, शकुंतला देवी, आशा देवी, निशा कुमारी, मोहनी देवी, रूबी देवी व रोबिन निवासी बीरता को गिरफ्तार किया है।

गत दिनों बीरता में झगड़ा हुआ था। इस दौरान सुभाष चंद व उसके स्वजन ने कालू राम की पिटाई की थी। कालू राम के रिश्तेदार राकेश कुमार ने वीरवार को पुलिस थाना कांगड़ा में शिकायत की थी। शुक्रवार सुबह करतार चंद व उसके बेटे राजेंद्र कुमार सहित रविद्र, रोबिन, रूबी, मोहनी ने राकेश कुमार व सुभाष चंद के घर पर दराट व डंडों आदि से प्रहार किया था। इसमें 28 वर्षीय राकेश कुमार, 80 वर्षीय धर्मपाल, 58 वर्षीय उमा शंकर व 45 वर्षीय सुभाष कुमार घायल हो गए।

चारों को डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल कांगड़ा स्थित टांडा ले जाया गया। यहां डाक्टरों ने गंभीर घायल राकेश व सुभाष को पीजीआइ चंडीगढ़ रेफर कर दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने मटौर-शिमला हाईवे पर बीरता में दो घंटे तक चक्काजाम कर दिया। उनका कहना है कि वीरवार को ही पुलिस ने शिकायत पर कार्रवाई की होती तो हमला नहीं होता। लोगों के रोष को देखते हुए कांगड़ा प्रशासन ने बीरता गांव में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती कर दी। इसके बाद पुलिस अधीक्षक विमुक्त रंजन घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों को आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने जाम खोला।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma