शिमला, जेएनएन। धर्मशाला में सात व आठ नवंबर को होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के दौरान प्रदेश सरकार लाइजनिंग ऑफिसर तैनात करेगी। इस संबंध में उद्योग विभाग के आलाधिकारी खूब कसरत कर रहे हैं। इन्वेस्टर मीट में देश-विदेश से आने वाले निवेशकों व वीवीआइपी के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए 100 से अधिक लाइजनिंग ऑफिसर तैनात करने का निर्णय लिया गया है। लाइजनिंग ऑफिसर तैनात करने के लिए प्रदेश सरकार उद्योग विभाग के अलावा अन्य विभागों के अधिकारियों के नाम की सूची तय कर जल्द दिशानिर्देश जारी करेगी।

इन्वेस्टर मीट में निवेशकों के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह व विदेश मंत्री एस जयशंकर भी शामिल होंगे। विदेश से आने वाले निवेशकों को धर्मशाला में इन्वेस्टर मीट के दौरान परिवहन सुविधा देने के लिए प्रदेश सरकार 324 लग्जरी गाडिय़ों का इंतजाम करेगी। मर्सिडीज, बीएमडब्ल्यू, फॉच्र्यूनर के अलावा इटिओस, डिजायर, इनोवा जैसे 310 वाहनों के साथ 45 सीटों वाले चार वोल्वो कोच और 16 सीट वाली 10 टोयोटा कोस्टर को सरकार दो दिन किराये पर लेगी। परिवहन विभाग वाहनों का इंतजाम करने में जुट गया है। निर्देश दिए गए हैं कि सभी वाहनों के चालक साफ कपड़ों में होने चाहिए और गाडिय़ां तीन साल से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। किराये पर ली जा रहीं इन गाडिय़ों को कम से कम चार सौ किलोमीटर चलाया जाएगा।

मुख्यमंत्री 10 को करेंगे समीक्षा

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर इन्वेस्टर मीट के लिए हुई तैयारियों को लेकर 10 अक्टूबर को उद्योग व अन्य विभागों के आलाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। बैठक में मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी भी होंगे। इस दौरान इन्वेस्टर मीट में आने वाले लोगों की सुरक्षा और उनके रहने व परिवहन की व्यवस्थाओं को लेकर समीक्षा होगी।

इन्वेस्टर मीट में निवेशकों व केंद्र से आने वाले वीवीआइपी के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए 100 से अधिक लाइजनिंग ऑफिसर तैनात किए जाएंगे। इस संबंध में प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। -हंसराज शर्मा, निदेशक, उद्योग विभाग।

Posted By: Rajesh Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप