संवाद सहयोगी, हमीरपुर : हिमाचल परिवहन सेवानिवृत्त कर्मचारी कल्याण मंच की प्रदेश संचालन समिति की बैठक प्रदेश अध्यक्ष बलराम पुरी की अध्यक्षता में हुई। इसमें पेंशनरों की पेंशन व लंबित वित्तीय लाभों के बारे में गंभीरता से चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि 24 जुलाई को 11 सूत्रीय मांगों के समाधान के लिए नोटिस मुख्यमंत्री को दिया था। इस पर मुख्यमंत्री ने 11 सूत्रीय मांगों के समाधान करने व शीघ्र मंच के पदाधिकारियों के साथ वार्ता बुलाने का लिखित पत्र पहली अगस्त को मंच को भेजा। इसके अनुसार मंच ने प्रदर्शन स्थगित कर दिया था। इसके उपरांत मुख्यमंत्री को दो समरण पत्र भी दिए, लेकिन अब तक आश्वासन पत्र देने के बाद भी वार्ता को नहीं बुलाया गया। इस पर मंच ने रोष प्रकट किया है।

समिति ने निर्णय लिया है कि अगर सरकार व मुख्यमंत्री वार्ता के लिए नहीं बुलाते हैं या मांगों का समाधान नहीं करते हैं तो मंच बजट सत्र शिमला में प्रदर्शन करेगा और विधानसभा का घेराव करेगा।

बैठक में रूप चंद शर्मा, महामंत्री अशोक कुमार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष चमन पुंडीर, मुख्य सलाहकार भीखम परमार, वीर सिंह चौहान, रमेश शर्मा, अजमेर ठाकुर, ओमप्रकाश, बिहारी लाल ठाकुर, मधुसूदन शर्मा, किशोरी लाल धनोतिया, सुमित कटोच, नंदलाल, संसार पठानिया, बेली राम, दलजीत सिंह, टेकचंद कटोच, राजेश कुमार, रशपाल सिंह व ओंकार चंद मौजूद रहे।

जिला अध्यक्ष अजमेर सिंह ठाकुर ने बताया कि पेंशन का स्थायी समाधान न किए जाने के साथ साथ 2016 से सेवानिवृत हुए कर्मचारियों को पैंसों का भुगतान नहीं हो सका है। इसके साथ ही मार्च 2021 से सेवानिवृत हुए है उन्हें अब तक पेंशन तक नहीं लग सकी है।

Edited By: Jagran