जागरण संवाददाता, हमीरपुर : नई शिक्षा नीति में प्रारंभिक शिक्षकों को कॉलेज सहायक प्रोफेसर की तर्ज पर वेतन देने का प्रस्ताव सराहनीय प्रावधान है।

प्रदेश राजकीय कला स्नातक संघ हमीरपुर अध्यक्ष विजय हीर ने बताया कि 2030 तक नई शिक्षा नीति में प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षकों के लिए समान वेतन सहायक प्रोफेसर की तर्ज पर देने की व्यवस्था की गई है और प्राथमिक, माध्यमिक, सेकेंडरी व कॉलेज शिक्षकों की वेतन और पदोन्नति व्यवस्था एक समान करना क्रांतिकारी सुधार होगा। इससे शिक्षक वर्ग का वेतन काफी बेहतर होगा और हर शिक्षा स्तर आ महत्व मान बनेगा। हीर ने कहा कि नई शिक्षा नीति में हर शिक्षक के लिए पदोन्नति के पांच स्तर निर्धारित करना सराहनीय कदम है। बिना कार्यकाल के अर्ली टीचर, कार्यकाल सहित अर्ली टीचर, प्रोफिशिएंट टीचर, एक्सपर्ट टीचर और मास्टर टीचर इसके लिए पांच स्तर निर्धारित किए गए हैंद्ध मास्टर टीचर्स ही सेमिनारों आदि में प्रशिक्षण देने का कार्य करेंगे। शिक्षकों के पदोन्नति स्तरों का अलग-अलग वेतन भी निर्धारित है जिसको शिक्षक केवल मेरिट और अपने प्रदर्शन के अनुसार प्राप्त कर सकेंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस