जागरण संवाददाता, हमीरपुर : हिमाचल कला संस्कृति भाषा अकादमी की पहाड़ी भाषा व साहित्य के विकास के लिए स्थायी समिति का गठन किया गया। इसमें नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्मारक राजकीय महाविद्यालय हमीरपुर के सहायक आचार्य इतिहास डा. राकेश कुमार को सदस्य मनोनीत किया गया है। इसके अलावा सरकार ने शिमला से हितेंद्र शर्मा व डा. दयानंद शर्मा, मंडी से कमल राणा, कुल्लू से दीपक शर्मा, ऊना से साक्षी शर्मा का मनोनयन किया है। डा. राकेश कुमार शर्मा पंचायत नाल्टी के गांव कपाड़ा जिला हमीरपुर के रहने वाले हैं। उन्होंने स्नातक की शिक्षा राजकीय महाविद्यालय हमीरपुर से पूर्ण की है तथा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से स्नातकोत्तर व एम फिल व जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है। उन्होंने अध्यापन कार्य 2002 में जनरल जोरावर सिंह महाविद्यालय धनेटा से शुरू किया। उन्होंने जनरल जोरावर सिंह व्यक्तित्व एवं कृतित्व -एक मूल्यांकन विषय पर शोधकार्य जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर से पूर्ण किया। वे भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के फेलो रहे हैं।

डा. शर्मा शोध संस्थान नेरी से प्रकाशित त्रैमासिक अनुसंधान पत्रिका इतिहास दिवाकर के संपादक हैं। उन्होंने इतिहास विषय की स्नातक व स्नातकोत्तर की पुस्तकों का लेखन भी किया है। उन्हें डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी व डा. एमएस आहलूवालिया पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

प्राचार्य डा. अंजु बत्ता सहगल, डा. मनोज डोगरा, डा. सतीश सोनी, शोध संस्थान नेरी के अध्यक्ष विजय मोहन कुमार पुरी, महासचिव भूमि दत्त शर्मा, निदेशक डा. चेतराम गर्ग, डा. ओमप्रकाश शर्मा, डा. भाग चंद चौहान, प्यार चंद परमार, नरेंद्र नंदा, डा. विकास शर्मा व प्रेम सिंह भरमौरिया ने बधाई दी है।

Edited By: Jagran