जागरण संवाददाता, हमीरपुर : प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता दीपक शर्मा ने कहा कि हिमाचल के किसानों का अनाज पंजाब की मंडियों ने लेने से इनकार कर दिया है और प्रदेश में कोई भी अनाज मंडी नहीं है। उन्होंने कहा कि अब इस मामले पर भाजपा नेता जवाब दें जोकि कृषि कानून पर बोल रहे हैं।

भाजपा नेता कृषि विरोधी बिल पर तर्क दे रहे थे कि देश का किसान कहीं भी अब उत्पाद बेच सकता है लेकिन पंजाब द्वारा इनकार करने के बाद असली बात सामने आ गई है। जिस तरह से हिमाचल के किसान बागवान अब प्रभावित हो रहे हैं। किसानों की जो दुर्दशा हो रही है उससे यह बात साफ हो गई है कि भाजपा सरकार ने किसानों के हितों को चंद बड़े घरानों के हाथों में बेचा है। किसान को मजबूर-लाचार बनाने वाली नीतियां लागू करके केंद्र सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था पर गहरी चोट की है जिसका खामियाजा पूरे देश को भुगतना पड़ेगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस