जागरण संवाददाता, धर्मशाला : पूर्व शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने कहा कि कांगड़ा संसदीय क्षेत्र के सांसद शांता कुमार धरातल पर काम करने में असमर्थ साबित हुए हैं। अब लोकसभा चुनाव को देख उन्हें विकास कार्यो की याद आ रही है। अगर शांता कुमार इतने ही निष्ठावान होते तो हवाई जहाज के किराये को कम करने से पहले इसके विस्तारीकरण को लेकर मामला उठाते। पिछली यूपीए की सरकार के समय में जब 2013 में गगल में उड़ानें बंद हो गई थी तो कांग्रेस सरकार द्वारा इन्हें फिर से शुरू करवाया गया था। यह हवाई अड्डा पर्यटन ही नहीं सेना के दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण है। इसलिए ही कांग्रेस ने 2016 में इस अड्डे की महत्ता को देखते हुए भारतीय वायु सेना के साथ इस अड्डे के विस्तारीकरण के लिए सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की थी, लेकिन अब केंद्र व प्रदेश में भाजपा सरकार होने के बावजूद इस ओर कोई कदम नहीं उठाया गया है जो कि भाजपा सरकारों की कार्यप्रणाली को भी दर्शाता है। पठानकोट-जोगेंद्रनगर रेल मार्ग को ब्रॉड गेज करने की बात भी शांता कुमार द्वारा की जा रही है, लेकिन यहां तो आलम यह है कि इस रेल मार्ग पर जो छोटी ट्रेन चलती है वह ही कई समय से बंद पड़ी हुई है। इस रेल सेवा के प्रभावित होने से ऐसे गांवों के लोग भी परेशान हैं जो कि सीधे रूप से इस रेल मार्ग पर ही निर्भर हैं। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से लोग परेशान हैं, लेकिन भाजपा सरकार इस पर लगाम लगाने में पूरी तरह से असमर्थ साबित हुई है।

Posted By: Jagran