Move to Jagran APP

'इंडी गठबंधन जीत के बाद तय करेगा पीएम का नाम...', शशि थरूर बोले- बहुत सारे नेता हैं जो PM का चेहरा बन सकते हैं

धर्मशाला में आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए शशि थरूर (Shashi Throor in Dharmashala) ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी चीन की सेना को पीछे नहीं धकेल सके। यह केंद्र सरकार की बड़ी विफलता है। अभी तक सीमा तय नहीं हुई है। थरूर ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी चीन की सेना को पीछे नहीं धकेल सके। उन्होंने इंडी गठबंधन के पीएम चेहरे को लेकर भी जवाब दिया।

By neeraj vyas Edited By: Prince Sharma Published: Wed, 29 May 2024 08:50 PM (IST)Updated: Wed, 29 May 2024 08:50 PM (IST)
शशि थरूर बोले- बहुत सारे नेता हैं जो चेहरा बन सकते हैं

जागरण संवाददाता, धर्मशाला। Himachal Lok Sabha Election 2024: पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने कहा है कि आइएनडीआइए चुनाव में जीत के बाद ही प्रधानमंत्री का नाम तय करेगा। गठबंधन के पास नेताओं की कमी नहीं है। बहुत सारे नेता हैं, जो चेहरा हो सकते हैं। 2004 के चुनाव में भी कोई नेता चेहरा नहीं था, लेकिन डॉ. मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बने थे।

बुधवार को धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी संसदीय प्रणाली को राष्ट्रपति प्रणाली की तरह चला रहे हैं। प्रधानमंत्री का चेहरा चुनाव के बाद तय होना चाहिए।

थरूर ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी चीन की सेना को पीछे नहीं धकेल सके। यह केंद्र सरकार की बड़ी विफलता है। अभी तक सीमा तय नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें- Heat Wave in Dharmshala: धर्मशाला में गर्मी ने तोड़ा 5 साल का रिकॉर्ड, हीटवेव को लेकर IMD ने जारी किया येलो अलर्ट

देश का संविधान खतरे में है: शशि थरूर

वहां पर 26 प्वाइंट थे, जहां तय हुआ था कि एक दिन चीन और एक दिन भारतीय सेना के जवान पेट्रोलिंग करेंगे। जब भारत के जवान पेट्रोलिंग करने निकले तो चीनी जवानों को 26 प्वाइंट पर बैठे देखा जो पीछे नहीं हटे। करीब 20 जवान वहां बलिदान हो गए। अभी भी 26 प्वाइंट पर चीन का कब्जा है और प्रधानमंत्री चुप बैठे हैं। उन्होंने कहा, देश का संविधान खतरे में है।

देश के संविधान में 100 बार संशोधन हुए हैं लेकिन वे चर्चा के बाद हुए हैं। जब मोदी ने 400 पार का नारा दिया है तो संविधान संशोधन में किसी को पूछने की जरूरत नहीं होगी। बकौल थरूर, मोदी भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहते हैं, इसलिए संविधान में संशोधन करना चाहते हैं।

भाजपा का नारा 300 पार का नारा मुश्किल 

पहले व दूसरे चरण के बाद भाजपा का 300 पार का नारा मुश्किल लग रहा था और अब जब चुनाव अंतिम चरण में है तो 200 पार भी मुश्किल है। न किसानों की आय बढ़ी, न अर्थव्यवस्था सुधरी शशि थरूर ने कहा, मोदी ने कहा था कि किसानों की आय बढ़ेगी, लेकिन नहीं बढ़ी।

अर्थव्यवस्था सुधरेगी, लेकिन नहीं सुधरी। आज 42 प्रतिशत बच्चे स्नातक करने के बाद बेरोजगार हैं। 80 प्रतिशत भारतीय बोल रहे हैं कि आय कम हुई है, लेकिन इसके बावजूद मोदी जनता से फिर से वोट मांग रहे हैं। भाजपा ने अग्निपथ योजना को लाकर सेना को कमजोर करने का काम किया है। कांग्रेस सत्ता में आते ही इस पर निर्णय लेगी।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Election: 'हिमाचल के मुख्यमंत्री को एक कमरे में बिठा...' कंगना रनौत के प्रचार में ये क्या बोल गए नितिन गडकरी


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.