पालमपुर, जेएनएन। हर मंच से एकजुटता का राग अलाप रही पालमपुर भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं है। गत दिनों हुई मंडल की बैठक में दो महिला नेत्रियों के बीच तनातनी हुई। सूत्रों के मुताबिक प्रदेशस्तरीय नेत्री ने जिला अध्यक्ष को जलील कर बैठक से बाहर कर दिया। पालमपुर मंडल भाजपा की बैठक में मौजूद भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष इंदु गोस्वामी और जिला भाजपा अल्पसंख्यक वर्ग की अध्यक्ष शम्मी अख्तर में किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। चर्चाओं के मुताबिक इंदु ने जिला अध्यक्ष को बैठक से बाहर जाने को कहा। साथ ही उनके वोट बैंक कम होने से संबंधित बात भी कही। अब यह मामला पार्टी हाईकमान के पास पहुंच गया है। सूत्रों के मुताबिक अपने साथ हुए बर्ताव से आहत जिला अल्पसंख्यक मोर्चा की अध्यक्ष शम्मी अख्तर ने शिमला स्थित हाईकमान के पदाधिकारियों के समक्ष त्यागपत्र भी देने की पेशकश की है। पूरे मामले की शिकायत भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और अन्य पदाधिकारियों से की है।

सूत्रों के मुताबिक इससे पहले हुई मंडल की बैठक में दोनों नेत्रियों में कहासुनी हुई थी, लेकिन वह मामला दबा दिया गया। इस बार अल्पसंख्यक वर्ग से मामला जुड़ा होने के कारण मामले में तूल पकड़ लिया है। मामला प्रदेश स्तरीय नेता से जुड़ा होने के कारण भाजपा इसे पर हल करने में जुटी है, लेकिन जिस तरह से लगातार दो बैठकों में हंगामा हुआ, कहीं न कहीं पालमपुर भाजपा की एकजुटता पर सवाल खड़े हो रहे हैं। गौर रहे कि विधानसभा चुनाव के दौर से ही भाजपा नेता दो गुटों में बंट गए थे। 

मुख्यमंत्री के दौरे के दौरान भी यह बात सामने आई थी। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की अध्यक्ष शम्मी अख्तर ने बताया कि उनके साथ बदसलूकी की गई। उनका वोट बैंक कम होने का भी ताना दिया गया। उन्होंने अपने पद से त्यागपत्र प्रदेश नेतृत्व को भेज दिया है। साथ ही मामले की शिकायत भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और अन्य नेताओं को भी की है। इस मामले पर भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष इंदु गोस्वामी ने कहा कि वह इस मामले पर कुछ नहीं बोलेंगी।

By Babita