जागरण संवाददाता, धर्मशाला : प्रदेश के दो हलकों में होने वाले उपचुनाव में बाहरी नहीं बल्कि स्थानीय विधानसभा क्षेत्र से संबंधित व्यक्ति को ही टिकट दिया जाएगा। विशेषकर धर्मशाला हलके में बाहरी व्यक्ति को उपचुनाव में उतारने की अटकलों पर विराम भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ने लगा दिया है। भाजपा धर्मशाला व पच्छाद उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के नामों की घोषणा आचार संहिता घोषित होने के बाद ही करेगी। पार्टी कर्मठ व किसी जुझारू नेता या कार्यकर्ता को ही चेहरा उपचुनाव में बनाएगी। शनिवार को धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत में सत्ती ने कहा, उपचुनाव के लिए पार्टी तैयार है। धर्मशाला हलके को चार जोन में बांटकर जिम्मेदारी नेताओं, पार्टी के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को सौंपी है। उम्मीद जाहिर की कि प्रदेश में उपचुनाव हरियाणा व महाराष्ट्र चुनाव के साथ हो सकते हैं। बेनामी पत्र पर कटघरे में खड़ी हो रही पार्टी के सवाल पर प्रदेशाध्यक्ष ने कहा, नेताओं के खिलाफ ऐसे बेनामी पत्र इससे पहले भी कांग्रेस सरकारों के समय में भी आते रहे हैं। बकौल सत्ती, पार्टी का यह मानना है कि अगर कहीं कोई कमी है तो उसे सीधे सरकार के मुखिया के सामने रखना चाहिए। सरकार को सचेत करना जरूरी है पर बेनामी पत्र कोई साधन नहीं है। फिर भी सरकार ने मामले की जांच के लिए आदेश दिए हैं और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस मौके पर सांसद किशन कपूर, केसीसीबी के अध्यक्ष राजीव भारद्वाज, भाजपा के सह मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा, भाजपा जिला महासचिव चंद्र भूषण नाग व विपिन नैहरिया मौजूद रहे। इस दौरान सत्ती ने धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के लिए बनाए गए चार जोन में कार्यकर्ताओं से बैठक की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप