संवाद सहयोगी, होली : मांगें पूरी न होने पर ग्राम पंचायत उल्लांसा के लोगों ने उपमंडल भरमौर के तहत कुठेड़ में निर्माणाधीन जल विद्युत परियोजना प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ग्रामीणों ने परियोजना के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया है। लोगों का आरोप है कि परियोजना प्रबंधन उनके हितों के साथ खिलवाड़ कर रहा है। युवक मंडल के अध्यक्ष अनिल ने कहा कि जल विद्युत परियोजना का पावर हाउस ग्राम पंचायत उल्लांसा में बनाया जाएगा। इसलिए पंचायत के प्रत्येक परिवार को रोजगार में प्राथमिकता दी जानी चाहिए। पंचायत के अधिकतर लोग बागवानी पर निर्भर हैं, अत: उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है, लेकिन कंपनी प्रबंधन मनमाने तरीके से कार्य को अंजाम देने में जुटी है। उन्हें रोजगार से वंचित रखा जा रहा है। साथ ही प्रभावितों को मुआवजा भी प्रदान नहीं किया गया है। गत दिनों परियोजना प्रबंधन को इस संदर्भ में ज्ञापन भी सौंपा था, जिसके माध्यम से उन्हें चेताया गया था कि यदि 13 फरवरी तक उनकी मांगों को पूरा न किया गया तो वे कार्य बंद करवा देंगे। इसके बावजूद कंपनी प्रबंधन के कानों पर जूं तक न रेंगी। लिहाजा गुस्साए ग्रामीणों ने 14 फरवरी से धरना प्रदर्शन आरंभ कर कार्य बंद करवा दिया है। अनिल ने कहा कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने एक बार फिर कंपनी प्रबंधन को चेताते हुए कहा कि जल्द से जल्द उनकी मांगों को पूरा किया जाए अन्यथा वे चक्का जाम करने से भी गुरेज नहीं करेंगे। लोगों के हितों को ध्यान में रखकर ही कंपनी द्वारा कार्य किया जा रहा है। जैसे ही कंपनी में कर्मचारियों की जरूरत पड़ती है। उसमें स्थानीय लोगों को ही प्राथमिकता दी जाएगी। स्थानीय लोगों से भी अपेक्षा है कि वे भी कंपनी का सहयोग करें।

संजय, परियोजना प्रबंधक कुठेड़ जल विद्युत परियोजना।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस