संवाद सहयोगी, डलहौजी : उपमंडल अधिकारी डलहौजी के कार्यालय के आरएलए विग (लाइसेंस शाखा) में शनिवार सुबह अचानक आग लगने से कार्यालय परिसर में अफरा-तफरी मच गई। समय रहते कार्यालय के कर्मचारियों व बनीखेत से पहुंचे दमकल विभाग के जवानों ने आग पर काबू पा लिया। अन्यथा यहां लाइसेंस शाखा का सारा रिकार्ड जलकर राख हो जाता। साथ ही एसडीएम कार्यालय सहित साथ में स्थित तहसील कार्यालय को भी काफी क्षति पहुंच सकती थी।

एसडीएम कार्यालय की लाईसेंस शाखा के रिकार्ड रूम में शनिवार सुबह करीब 11 बजे बिजली का शॉर्ट सर्किट होने से अचानक आग लग गई। रिकार्ड रूम से धुआं निकलता देखकर कर्मचारियों में हड़कंप मच गया और जैसे ही रिकार्ड रूम का दरवाजा खोला तो वहां रखी फाइलों में आग भड़क रही थी। इस पर कर्मचारियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए कार्यालय परिसर में लगे अग्निशमन यंत्रों से आग पर काबू पाने के प्रयास शुरू कर दिए। वहीं, एसडीएम डलहौजी डॉ. मुरारी लाल द्वारा सूचना देने पर बनीखेत से दमकल जवान भी वाहनों के साथ मौके पर पहुंच कर आग को काबू करने में जुट गए। अग्निशमन यंत्रों से कुछ ही देरी में आग पर काबू पा लेने पर सभी ने राहत की सांस ली।

ज्ञात हो कि रिकार्ड रूम में लाइसेंस शाखा का कई वर्ष का पुराना रिकार्ड रखा था। इस घटना में रिकार्ड रूम में रखी फाइलों सहित कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को भी थोड़ा नुकसान पहुंचा है।

एसडीएम, डलहौजी डॉ. मुरारी लाल ने लाइसेंस शाखा के रिकार्ड रूम में आगजनी की घटना होने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि गनीमत रही कि आग लगने का पता जल्दी चल गया। अन्यथा यहां काफी ज्यादा नुकसान हो सकता था। उन्होंने कहा कि आग को काबू करने में कार्यालय परिसर में लगाए गए अग्निशमन यंत्र कर्मचारियों के काफी काम आए। उन्होंने बताया कि लाइसेंस शाखा का सारा रिकार्ड सुरक्षित बचा लिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप