एडीएम ने किया औचक निरीक्षण, कर्मचारी को जारी किया कारण बताओ नोटिस

- इससे पहले भी निरीक्षण के दौरान गायब पाए गए थे कर्मचारी संवाद सहयोगी, भरमौर : उपमंडल में सरकार कर्मचारियों को ठंड में ड्यूटी देना अच्छा नहीं लग रहा है। आयुर्वेदिक अस्पताल भरमौर का वीरवार को एडीएम भरमौर पीपी सिंह ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान अस्पताल में व्यवस्थाओं की जांच की गई। जांच में बिना किसी कारण कर्मचारी नदारद पाया गया, जिस पर एडीएम काफी नाराज दिखे। एडीएम ने इस संबंध में उक्त कर्मचारी को कारण बताओ नोटिस थमाया है। साथ ही साफ किया है कि बिना किसी कारण अपनी ड्यूटी से नदारद पाए जाने वाले अधिकारियों तथा कर्मचारियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। गौरतलब है कि भरमौर क्षेत्र में सर्दियों में अधिकारियों तथा कर्मचारियों के फरलो मारने के मामले पहले भी सामने आते रहे हैं। ऐसे में एडीएम किसी भी सूरत में ऐसे अधिकारियों तथा कर्मचारियों को छूट नहीं देना चाहते हैं। बीते वर्ष नवंबर माह में भी स्थानीय विधायक तथा एडीएम द्वारा आयुर्वेदिक अस्पताल में औचक निरीक्षण किया गया था। औचक निरीक्षण के दौरान अस्पताल में दो डॉक्टर नदारद पाए गए थे। इन अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने छुट्टी तक की अर्जी देना भी गवारा नहीं समझा था। इस पर विधायक ने एडीएम भरमौर को इन अधिकारियों और कर्मचारियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे। आयुर्वेदिक अस्पताल में भरमौर में अधिकारियों और कर्मचारियों के अकसर नदारद रहने संबंधी शिकायतें भरमौर प्रशासन तक पहुंची थी, जिसके बाद भरमौर-पांगी विधायक जियालाल कपूर और एडीएम भरमौर पृथी पाल सिंह ने आयुर्वेदिक अस्पताल का संयुक्त रूप से औचक निरीक्षण किया था। यही नहीं एक अन्य विभाग से भी एक कर्मचारी नदारद पाया गया था, जिसके बाद एडीएम द्वारा समय-समय पर विभागों का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं की जांच करने की बात कही थी। इसी बात पर अमल करते हुए एडीएम ने वीरवार को फिर से औचक निरीक्षण किया। इस दौरान भी एक कर्मचारी नदारद पाया गया। इस पर एडीएम ने भविष्य में भी इस तरह के औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लेने की बात कही। आयुर्वेदिक अस्पताल भरमौर का वीरवार को औचक निरीक्षण किया गया है। इस दौरान एक कर्मचारी ड्यूटी से नदारद पाया गया है। जिसे कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इससे पूर्व विभिन्न विभागों के जो अधिकारी औचक निरीक्षण के दौरान नदारद पाए गए थे। उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किए गए थे। कुछेक के उत्तर संतोषजनक नहीं थे, जिसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी गई है।

पीपी सिंह, एडीएम भरमौर।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस