संवाद सहयोगी, घुमारवीं : कंदरौर- हमीरपुर सड़क पर घुमारवीं के दकड़ी चौक पर लगाया ट्रैफिक लाइट सिस्टम पूरी तरह फेल हो गया है। छह माह से बंद पड़े इस सिस्टम को पटरी पर लाने के लिए कोई प्रयास नहीं हुआ है। आलम यह है कि हर कोई आगे निकलने की जल्दी में यातायात सिस्टम को पटरी से धकेल रहे हैं। नतीजा यह निकल रहा है कि लोग जाम में फंसने लगे हैं।

घुमारवीं के दकड़ी चौक पर ट्रैफिक लाइट सिस्टम को खराब पड़े हुए लगभग छह माह हो गए हैं। इस देखते हुए भी न तो प्रशासन व पुलिस की तंद्रा टूटी है। इस सिस्टम को ठीक नहीं किया गया हैं। ट्रैफिक लाइट बंद होने से वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। चालक मनमानी से अपने वाहन इधर-उधर मोड़ देते हैं। इससे यहां पर अकसर जाम की स्थिति बनी रहती है। हालांकि यहां पर यातायात को सुचारू बनाने के लिए पुलिस कर्मी की नियुक्ति की गई है लेकिन यहां पर फिर भी जाम लगना आम बात हो गई है।

गौरतलब है कि छह माह पूर्व कंदरौर हमीरपुर डबललेन सड़क का कार्य शुरू होने पर यह लाइटें बंद हो गई थी। सड़क का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद भी इन लाइटों को शुरू नहीं किया गया है। दकड़ी चौक पर वाहन बिलासपुर, हमीरपुर के साथ सरकाघाट जाहू के लिए भी टर्न लेते हैं। ऐसे में यह चौक अति व्यस्तम चौक बन गया है। ट्रैफिक लाइट न होने के कारण वाहन चालक भी लापरवाही के साथ अपने वाहन इधर-उधर मोड़ लेते हैं। इसके कारण कई बार हादसों की आशंका अधिक बढ़ जाती है। हालांकि स्थानीय लोगों ने पुलिस से इन ट्रैफिक लाइटको शीघ्र ठीक करवाने की मांग की गई है लेकिन इस ओर न तो स्थानीय प्रशासन ध्यान दे रहा है और न पुलिस द्वारा उचित कदम उठाए जा रहे हैं।

स्थानीय दुकानदारों श्याम, ओमकार, अनिल शर्मा, सुशील मेहता, अर¨वद, कांशीराम, रोशन लाल, बुद्धि ¨सह ने बताया कि कई माह से ट्रैफिक लाइट बंद है। स्कूली बच्चों को भी सड़क पार करने में दिक्कत होती है। यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए इन लाइटों को लगाया गया था और इसके परिणाम भी बहुत अच्छे रहे थे लेकिन इतना समय बीतने के बाद भी प्रशासन ने इन्हें ठीक करवाने की जहमत नही उठायी। राष्ट्रीय राजमार्ग होने के चलते ट्रैफिक भी बहुत ज्यादा होता है।

-------------------------

डीएसपी घुमारवीं राजेंद्र कुमार जसवाल का कहना है कि ट्रैफिक लाइटस में तकनीकी खराबी आ गई है। इन्हें शीघ्र ही ठीक करवा दिया जाएगा ताकि लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े।

Posted By: Jagran