जनकराज शर्मा, भराड़ी

घुमारवीं उपमंडल के तहत आने वाली सलाओं पंचायत के कामूल गांव को जाने के लिए अब न तो रास्ता बचा है और न ही सड़क। पहले सड़क से लोग अपने वाहनों से भी घर पहुंच जाते थे लेकिन यह भी बरसात में हुए भूस्खलन से बंद है और रास्ता भी इसी कारण से कट गया है। इस मामले में पंचायत से भी लोगों ने कुछ राहत देने के लिए आग्रह किया लेकिन किसी ने सुनवाइ नहीं की। पहले जहां घर पहुंचने के लिए मुख्य रोड से दस मिनट लगते थे लेकिन अब उन्हें गांव में पहुंचने के लिए घूमकर जाना पडता है जिससे कि आधे से पौना घंटा लग रहा है।

::::::::

सलाओं पंचायत के वार्ड तीन कामलू गांव की सदस्य कर्मी देवी का कहना है कि भूस्खलन के लोगों का आवागमन इस रास्ते और सड़क से बंद हो गया है।

--------------------

देसराज शर्मा का कहना है कि बरसात में अक्सर भूस्खलन तो गांव में होता आया है लेकिन इतना नुक्सान नहीं होता था कि दोनों ओर से गांव को जाने वाले सीधे रास्ते बंद हो जाएं।

----------------------

सागर दत्त राणा का कहना है कि भूस्खलन के कारण दिक्कतें बढ गई हैं। लेकिन न तो पंचायत की ओर से ध्यान दिया जा रहा है और न ही सरकार व प्रशासन ने कुछ किया है।

------------------------

खलेलो देवी का कहना है कि गांव तक पहुंचना मुश्किल हो गया है। लोगों का वैकल्पिक रास्तों से गिरने का भी खतरा पैदा हो गया है। समस्या का जल्द समाधान हो।

---------------------

सरोज देवी कहती हैं कि उनकी इस समस्या का अभी तक कोई समाधान नहीं हुआ है। स्कूली बच्चों से लेकर बुर्जुर्गो तक को परेशानियां आ रही हैं। अभी तक समस्या हल नहीं हुई है।

---------------------

फूलां देवी कहती हैं कि पहले तो पंचायत का फर्ज बनता था कि कम से कम गांव को जाने वाले रास्ते को तो खुलवा दे। अब तक रास्ते व सडक को खुलवाने की जहमत उठाई गई है।

----------------------

बलदेव राणा कहते हैं कि इस गांव के लोगों को अपनी छोटी छोटी जरूरतों को पूरा करने के लिए सलाओं या बम्म इलाके में जाना पड़ता है। इस वजह से दिक्कतें आ रही हैं।

--------------------

रेखा देवी का कहना है कि छोटे बच्चों को तो बड़ी मुशिकलें आ रही हैं। जहां से रास्ता व सड़क खराब है वहां से बच्चों के गिरने का खतरा है। पंचायत समस्या का समाधान निकाले।

------------------------

ज्ञान चंद राणा कहते हैं कि हाल ही के दिनों में इलाके के लोग पंचायत विभाग को भी। लेकिन दोनों के स्तर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इसलिए और दिक्कत आ रही है।

Posted By: Jagran