जागरण संवाददाता, भराड़ी : पुलिस थाना भराड़ी के तहत हटवाड़ पंचायत में बच्ची के अपहरण की कोशिश के मामले में सूचना देने के करीब डेढ़ घंटे बाद पुलिसकर्मी शराब के नशे में मौके पर पहुंचे। इस दौरान ग्रामीणों ने आरोपित को उसे सौंपने से इन्कार कर दिया।

पंतेहड़ा पंचायत की प्रधान एवं राज्य महिला कल्याण बोर्ड की सदस्य शीतल भारद्वाज ने डीएसपी घुमारवीं व पुलिस अधीक्षक साक्षी वर्मा को कई घंटे तक फोन किया लेकिन दोनों ने नहीं उठाया। ग्रामीण पुलिसकर्मियों का वीडियो बनाने लगे तो एक पुलिसकर्मी भागते हुए कई बार गिरा।

एएसआइ पुलिसकर्मी को तलाशने में लगे रहे। करीब एक घंटे बाद वह सड़क के किनारे मिला। पुलिसकर्मियों ने उसे जीप में बिठा लिया और आरोपित युवक को भी अपने साथ ले गए।

पंचायत प्रधान ने उपायुक्त राजेश्वर गोयल को रात करीब तीन बजे फोन किया कि कोई भी पुलिस अधिकारी फोन नहीं उठा रहा है ओर मौके पर आए पुलिसकर्मी नशे में हैं। इस बीच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने काफी देर बाद फोन उठाया तो उन्हें घटना की जानकारी दी गई। वीरवार तड़के घुमारवीं पुलिस थाना के एसएचओ राकेश रॉय ने भराड़ी थाने में जाकर सभी पुलिसकर्मियों का मेडिकल करवाया। इनके रक्त के नमूने भी लिए गए हैं।

पंतेहडा पंचायत की प्रधान शीतल भारद्वाज ने बताया उन्हें बुधवार रात करीब साढ़े 12 बजे पट्टा के तहत एक गांव के निवासी योगराज ने फोन कर बताया कि वे हटवाड़ में रिश्तेदार के घर में समारोह में गए थे। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मजदूरों ने उसकी पत्नी से चार माह की बच्ची को छीनने की कोशिश की। पत्नी के चिलाने पर उसने एक मजदूर को पकड़ लिया और दो फरार हो गए। आरोपित को वह अपने घर ले आया। प्रधान ने बताया उन्होंने रात करीब पौने 11 बजे भराड़ी पुलिस थाना को फोन किया लेकिन पुलिसकर्मी करीब साढे़ 12 बजे मौके पर पहुंचे। एएसआइ, चालक व एक कांस्टेबल कथित तौर पर नशे में था। पुलिसकर्मियों की शिकायत करने के लिए एसपी को फोन किया तो उन्होंने बंद कर दिया। इसके बाद डीएसपी हेडक्वार्टर, डीएसपी घुमारवीं समेत कई अधिकारियों को फोन किया लेकिन किसी ने नहीं उठाया। आरोप लगाया एसपी के सरकारी नंबर पर फोन किया तो वहां तैनात कांस्टेबल विजय कुमार ने बात करवाने से इन्कार कर दिया और एएसपी का नंबर दिया। एएसपी ने आधी बात सुनकर फोन काट दिया। इसके बाद रात को उपायुक्त को फोन किया तो उन्होंने तुरंत कार्रवाई का आश्वासन दिया। उन्होंने विधायक राजेंद्र गर्ग से पुलिस तंत्र को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से बात करने का आग्रह किया है। उधर, एसएचओ भराड़ी अशोक ठाकुर ने बताया योगराज ने दर्ज करवाई शिकायत में बताया वह पत्नी व बच्ची के साथ हटवाड़ पंचायत में रिश्तेदार के घर में समारोह में गया था। इस दौरान यह घटना हुई। पुलिस ने रात को ही एफआइआर दर्ज कर ली है और मामले की जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस