संवाद सहयोगी, भगेड़ : शिक्षा के साथ खेलें भी महत्वपूर्ण हैं। इससे शारीरिक मानसिक और बौद्धिक विकास होता है। यह बात राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला औहर में आयोजित तीन दिवसीय जिलास्तरीय अंडर-14 बाल खेल प्रतियोगिता के समापन पर बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे सेवानिवृत्त एडीपीईओ सतीश चंद्र ने कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्कूल प्रधानाचार्य मदन चंदेल ने की। उन्होंने कहा कि विभिन्न स्कूलों के 550 बच्चों ने कबड्डी, खो-खो, बैड¨मटन, हॉकी, हैंडबॉल, फुटबॉल, एथलेटिक, जूडो, रेस¨लग में दमदार प्रदर्शन किया। प्रतिभागी टीमों को स्मृतिचिह्न व प्रशस्ति पत्र देकर के सम्मानित किया। स्कूली बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

बास्केटबॉल में विजेता बरमाणा, वॉलीबॉल में झंडूता, कबड्डी में सदर, खो-खो में झंडूता, बैड¨मटन में झंडूता, चेस में घुमारवीं विजेता रहा। योग में बलघाट, बॉ¨क्सग में कोठी, जूडो में चांदपुर, हॉकी में ऋषिकेश, फुटबॉल में बिलासपुर, एथलेटिक्स में ऋषिकेश, मार्च पास्ट में घुमारवीं तथा अनुशासन में ओहर स्कूल विजेता रहा। इस मौके पर पवन रमेश चंद्र, नंदलाल, विवेक, पुष्प रंजीत, राकेश कुमार, मो¨हदर, रामलाल, मीनाक्षी, नीलम, सुरेखा, सोनू, सरोज कुमारी, प्रेरणा उपस्थित रहे।

वहीं, राजकीय उच्च विद्यालय चोखना के अनुपम वर्मा पुत्र कमलदेव ने चेस में गोल्ड मेडल जीता। अब अनुपम नंबवर में होने वाली राज्यस्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता में भाग लेगा।

Posted By: Jagran