जागरण संवाददाता, यमुनानगर : शहर की सड़कें जाम से मुक्त नहीं हो पा रहीं। नेशनल हाईवे-73 रात भर जाम रहता है। हर दिन ऐसे ही हालात हैं। प्रशासनिक अधिकारी स्थिति से वाकिफ होने के बावजूद समस्या का समाधान नहीं कर रहे। बीती रात छछरौली रोड से लेकर औरंगाबाद तक का रास्ता पूरी तरह जाम था। बाइक सवारों को भी निकलने की जगह नहीं मिलती। इनसेट

खनन जोन से आते हैं ट्रक

रेत व बजरी से भरे ट्रक खनन जोन से आते हैं। इन ट्रकों में वजन का भी कोई मापदंड नहीं होता। हालांकि निगरानी के लिए जगह-जगह नाके लगे हुए हैं। बावजूद इसके भारी वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं। चिंताजनक बात यह है कि यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए पुलिस कर्मचारी भी सड़कों पर दिखाई नहीं देते। इनसेट

निगरानी कमेटी उठा चुकी है मुद्दा

शहर की सड़कों पर ओवरलोड का मुद्दा निगरानी कमेटी भी जिला उपायुक्त के समक्ष उठा चुकी है। बीते दिनों कमेटी के सदस्य इस बारे में जिला उपायुक्त से मिले थे। उसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने एक दिन आनन-फानन कुछ ओवरलोड वाहनों की जांच की और उनके चालान किए। उसके बाद स्थिति फिर वैसी ही हो गई। इनसेट

कई-कई घंटे लगा रहता जाम

कई बार तो दामला तक जाम लग जाता है। वाहन चालकों के लिए अन्य कोई वैकल्पिक मार्ग भी नहीं है। लोगों का कहना है कि आपात स्थिति में किसी मरीज को अस्पताल तक पहुंचाने की डगर आसान नहीं है। अधिकारियों को इस बारे संज्ञान लेना चाहिए। इनसेट

हाईवे पर पीसीआर तैनात रहती हैं और गश्त करती रहती हैं। रात के नौ बजे तक हाईवे पर भारी वाहन प्रतिबंधित है। नौ बजे के बाद ये वाहन एकदम चलते हैं, इसलिए जाम लग जाता है। वाहनों की संख्या अधिक होने के कारण सड़क पर जाम था।

निर्मल ¨सह, प्रभारी, यातायात थाना।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस