जागरण संवाददाता, यमुनानगर : मुकंद लाल नेशनल कॉलेज में पर्यावरण संरक्षण पर आधारित सात दिवसीय राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर का उद्घाटन हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व विधायक अनिल धंतोड़ी, विशिष्ट अतिथि डॉ. अनिल अग्रवाल, सह अतिथि भूपेंद्र राणा व कॉलेज प्राचार्य डॉ. शैलेश कपूर ने दीप प्रज्जवलित करके किया।

शिविर का उद्देश्य युवाओं को जागृत करके उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ते हुए पर्यावरण को सुरक्षित व संरक्षित करना है। जिससे भविष्यगामी दुष्परिणामों से बचा जा सके व साथ ही सरकार द्वारा चलाई जा रही उन समस्त नीतियों पर विचार व मंथन करना है। मुख्य अतिथि ने युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए समाज के प्रत्येक क्षेत्र व उत्पादन में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की प्रेरणा दी। विशिष्ठ अतिथि डॉ. अग्रवाल ने वर्तमान परिवेश की जटिलता व मोबाइल फोन की अधिकता के दुष्प्रभावों को रेखांकित करते हुए कहा कि मोबाइल फोन के अधिक प्रयोग के कारण ही आज का युवा वर्ग डिप्रेशन, तनाव व आत्मकुंठा का शिकार हो रहा है। जिनसे बचने के लिए उसे रचनात्मक गतिविधियों को अपनाना चाहिए और योग-ध्यान व खेल के माध्यम से प्राकृतिक संसाधनों के निकट रहकर डिप्रेशन व अन्य घातक बीमारियों के दुष्प्रभावों से बचने का उपाय करना चाहिए। कॉलेज प्राचार्य डॉ. शेलेश कपूर ने कहा कि किसी भी देश के सर्वांगीण विकास में राजनीति, न्याय व्यवस्था, मीडिया और युवा ये चारों मिलकर स्तम्भ का कार्य करते हैं। इनमें युवाओं की भूमिका सबसे अधिक है, क्योंकि आज का युवा ही कल के सर्वांगीण भविष्य की गौरव गाथा को लिखने का कारक होता है। कार्यक्रम में एनएसएस प्रोग्राम अधिकारी डॉ. भावना सेठी, डॉ. दीपमाला, डॉ. सोमनाथ, डॉ. महेश कुमार, प्रोफेसर प्रवीन खुराना, डॉ. पवन गाबा व अन्य उपस्थित थे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran