जागरण संवाददाता, यमुनानगर : लोड के हिसाब से बिजली बिल ज्यादा आ रहा है। सितंबर में 44 हजार रुपये का बिल भरा, अब फिर से 33 हजार का बिल दे दिया। उनका बिल गलत भेजा जा रहा है। बिल ठीक कराने की मांग को लेकर हुंडेवाला गांव के मिलाप सिंह ने बिजली सभा में फोरम से लगाई। एसई योगराज ने कहा कि वह उनका मीटर चेक कराते हैं। सोमवार को एसई कार्यालय में बिजली उपभोक्ता फोरम हुई। इसमें 16 उपभोक्ता बिल संबंधी शिकायत लेकर आए। अधिकारियों ने आधे से ज्यादा का हल कर दिया। कई पेंडिग कर दी गई।

हुंडेवाला निवासी मिलाप सिंह ने शिकायत में बताया कि उनके घर का छह किलोवाट का लोड है। वर्ष 18 में उनके घर कर बिजली मीटर खराब हो गया। इसको बिजली निगम ने बदल दिया। जो नया मीटर लगाया वह जंप कर रहा है। यूनिट खपत से ज्यादा दिखा रहा है। इस पर उनका बिल 44 हजार से ज्यादा का भेज दिया। ये बिल किश्तों में जमा किया। इसके बाद फिर से 33 हजार बिल भेजा गया। बिल ठीक कराने के लिए आए। एसई ने उनको भरोसा दिया है कि मीटर चेक करा देंगे। उनका बिल ठीक कर दिया जाएगा। जगाधरी से आए पंकज ने बताया कि वह किराये पर रहता है। उनका बिल एक साल से नहीं आ रहा। निगम ने अब उनको 40 हजार से ज्यादा का बिल भेज दिया। अधिकारियों ने इस बिल को ठीक कराने के लिए कह दिया। इसकी कॉपी पंचकूला आफिस में भेजा जाएगा। इसी तरह जगाधरी से आए अन्य उपभोक्ता ने बताया कि डेढ़ साल से बिल नहीं आ रहा है। शिकायत ऑन लाइन कर चुके हैं। उसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। सब आफिस गए तो वहां भी बताया गया कि उनका बिल जरनेट नहीं हो रहा है। अधिकारियों ने जल्द बिल जारी कराने की बात उपभोक्ताओं से कही। इस मौके पर एक्सईएन यमुनानगर सुखविद्र, जगाधरी एसडीओ सुखविद्र सिंह, साढौरा, रादौर के एसडीओ आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस