जागरण संवाददाता, जगाधरी : दिव्य ज्योति जागृति संस्थान की ओर से हनुमान गेट आश्रम में साप्ताहिक सत्संग हुआ। साध्वी सत्या भारती ने कहा कि कि युवा वर्ग नशाखोरी का शिकार होता जा रहा है। इस संसार में दो चीजों की कोई सीमा नहीं है। एक आकाश और दूसरा मनुष्य की मूर्खता। आज का इंसान अपनी परेशानी और तनाव को दूर करने के लिए अगर नशा करता है तो यह उसकी मुर्खता ही कही जाएगी। नशे में बिलकुल भी सुख-शांति नहीं है। अगर कोई नशे की दल-दल में इस लिए पैर रखता है कि उसे मजा मिलेगा तो वह यहां पर गलत है, क्योंकि नशा ही उसके लिए सजा बन जाता है, बाकी बचा मन का सकून भी दुख में परिवर्तित हो जाता है। यह नशा-नशा नहीं, हमारे नाश की निशानी है। नशा करने से समाज में और कितनी ही कुरीतियां जन्म लेती हैं। यह हम सभी को पता है। इस लिए आज से हम सभी मिलकर एैसे लोगों को इस नर्क से निकालने के लिए एकजुट होकर चलें।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस