जागरण संवाददाता, यमुनानगर :

लॉकडाउन में घरेलू हिसा की शिकायत बढ़ रही है। हेल्पलाइन नंबर पर अधिकतर शिकायतें महिला उत्पीड़न व घरेलू हिंसा की आ रही है। एक माह के दौरान 142 शिकायतें महिला हेल्पलाइन पर पहुंची। हालांकि इनमें से किसी में भी कोई केस दर्ज नहीं हुआ। इन शिकायतों पर पुलिस टीम गई, लेकिन अधिकतर का मौके पर ही समाधान कर दिया गया। पहले हर रोज इस तरह की तीन से चार कॉल हेल्पलाइन पर पहुंचती थी।

अधिकतर महिलाएं ही कर रही कंट्रोल रूम में फोन :

अधिकतर महिलाओं की ओर से ही कंट्रोल रूम में कॉल आ रही है। इनमें पति द्वारा मारपीट करना व ससुरालियों द्वारा उत्पीड़ित करने की शिकायतें अधिक आई है। एक महिला की ओर से शिकायत दी गई कि उसका पति लॉकडाउन में घर पर है। वह अक्सर गुस्सा करता है और उसके साथ मारपीट करने लगता है।

एक माह में नहीं दर्ज हुआ कोई केस :

लॉकडाउन के एक माह में महिला थाने में कोई केस भी दर्ज नहीं हुआ। पहले दहेज प्रताड़ना के अधिकतर केस दर्ज होते थे। अब लॉकडाउन की वजह से पुलिस की ड्यूटी भी दूसरी जगहों पर अधिक लगी हुई है। दूसरा लॉकडाउन में कम ही शिकायतकर्ता थानों तक पहुंच रहे हैं। कोट्स :

महिला थाना प्रभारी सीमा सिंह ने बताया कि एक माह में महिला थाने में कोई केस दर्ज नहीं हुआ है। हेल्पलाइन पर ही घरेलू हिसा से जुड़ी ही अधिक शिकायतें आ रही हैं। शिकायतों पर पुलिस टीम जाकर कार्रवाई करती है। दोनों पक्षों को समझाकर समाधान किया जाता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस