जागरण संवाददाता, यमुनानगर : डेंगू का डंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मौसम में बदलाव के बावजूद भी शहर से गांव तक इसकी दहशत बनी हुई है। लोगों का आरोप है कि समय से अधिकारियों ने फॉगिग नहीं कराई। निजी अस्पतालों में इस समय सबसे अधिक मरीज वायरल व डेंगू के पहुंच रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के रिकॉर्ड में 34 केस डेंगू के मिलने की पुष्टि हुई है। 396 संदिग्ध केसों की अभी रिपोर्ट नहीं आई है।

यहां पर मिले डेंगू के केस

शांति कॉलोनी, आदर्श नगर कैंप, मॉडल कॉलोनी, छोटा मॉडल टाउन, गांधीधाम, मॉडल कॉलोनी, रामनगर, संजय विहार कॉलोनी, अराइयावाला, शादीपुर, तेजली, खानपुर, ईस्ट भाटिया नगर, शास्त्री कॉलोनी, न्यू हमीदा कॉलोनी, विशाल नगर, हरनौल, जगाधरी, रेलवे बाजार, मुंडा माजरा, न्यू करतारपुरा, भगवानगढ़, मॉडल टाउन, हुडा सेक्टर 17, चौधरी कॉलोनी, गुरु अर्जुननगर, हरबंशपुरा, बूड़िया, गुलाबनगर, जगाधरी गोमती वाली गली व दशमेश कॉलोनी में डेंगू के केस मिले हैं।

वायरल के पहुंच रहे अधिक मरीज

निजी अस्पतालों के साथ वायरल के मरीज सिविल अस्पताल में भी पहुंच रहे हैं। इस समय सबसे अधिक भीड़ भी फिजिशियन के पास लग रही है। बच्चे व बुजुर्ग अधिक चपेट में है। हालांकि वायरल होते ही मरीज निजी चिकित्सकों पर अधिक भरोसा कर रहे हैं। यही वजह है कि निजी अस्पतालों में अधिक भीड़ है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. वागीश गुटैन ने बताया कि डेंगू का सीजन लगभग खत्म होने वाला है। स्थिति कंट्रोल में रही। जहां डेंगू के केस मिले है। वहां पर टीमें लगाई गई हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस